उद्योग मंत्री लखमा ने वीसी के माध्यम से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के संबंध में ली जानकारी

धमतरी जिले के कलेक्टर ने बताया कि आगे आने वाले समय में कोरोना की तीसरी लहर की सम्भावना को देखते हुए इसकी भी तैयारियां की गई हैं।

रायपुर, 12 मई 2021 : प्रदेश के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री तथा धमतरी जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने आज वीडियो कांन्फ्रेसिग के माध्यम से जिले में कोरोना संक्रमण की चुनौती पूर्ण परिस्थितियों में कोरोना से बचाव एवं सुरक्षा के लिए किये जा रहे कार्यों की विस्तारपूर्वक जानकारी ली।

उन्होंने जिले में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों की 96 प्रतिशत लोगों को कोविड-19 के टीके का पहला खुराक लगाए जाने की जानकारी पर संतोष व्यक्त करते हुए दूसरे डोज के लिए पात्र हो गए सभी लोगों को जल्द से जल्द टीकाकरण कराने पर बल दिया। वर्तमान में एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीजों के संबंध में जिला कलेक्टर ने बताया कि 6 हजार 305 लोग जिले में कोरोना संक्रमित हैं। यहां रिकव्हरी रेट 85 प्रतिशत तथा धनात्मक दर 20 प्रतिशत है।

प्रभारी मंत्री ने जिले में कोविड-19 की रोकथाम और बचाव के लिए जनप्रतिनिधियों, समाजसेवी संगठनों एवं जिला प्रशासन के द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की और आगे भी सभी को मिलजुलकर इस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध होकर काम करने पर जोर दिया।

कोरोना की तीसरी लहर की सम्भावना

धमतरी जिले के कलेक्टर ने बताया कि आगे आने वाले समय में कोरोना की तीसरी लहर की सम्भावना को देखते हुए इसकी भी तैयारियां की गई हैं। शासकीय अस्पतालों में 12 तथा निजी अस्पतालों में आठ वेंटिलेटर की सुविधा है, वहीं दूसरी ओर कुरूद स्थित कोविड केयर अस्पताल में 70 ऑक्सीजनयुक्त बिस्तर सहित नगरी, भखारा में 50-50 और धमतरी के आईएलआई और डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में कुल 100 ऑक्सीजनयुक्त बिस्तर हैं।

मगरलोड स्थित कोविड केयर सेंटर में भी 20 ऑक्सीजनयुक्त बिस्तर बनाने का काम एक-दो दिन में शुरू हो जाएगा। जिले में सांसद निधि तथा विधायक निधि की राशि से क्रय किए गए 100 जम्बो सिलेण्डर भी उपलब्ध हैं। जिले में आई.ई.सी. के जरिए कोरोना संक्रमण, टीकाकरण, मितानिन किट, होम आइसोलेशन इत्यादि के बारे में जनजागरूकता लाई जा रही है। इसके अलावा सभी 370 पंचायतों में कोविड कॉल सेंटर की स्थापना की गई है। परिणामस्वरूप गांव में जागरूकता आई है।

इसी तरह जिले को मिले मितानिन किट का भी काफी लाभ हुआ है। अब तक मितानिनों द्वारा सात हजार याने कि 70 प्रतिशत किट लक्षण वाले तथा उनके प्रायमरी कॉटेक्ट को वितरित किए गए हैं। इससे लोग समय रहते लक्षण के आधार पर ही किट की दवाइयों का सेवन कर रहे हैं। कोरोना से मृत्यु के दर में भी कमी आई है, क्योंकि जागरूकता आने से अब लोग लक्षण दिखने पर जल्द से जल्द जांच कराने भी आ रहे हैं। इसके अलावा फ्रंट लाइन वर्कर के रूप में चिन्हांकित लोगों का भी टीकाकरण कराने की कार्ययोजना जिले में बनाई गई है।

सिहावा विधायक डॉ.लक्ष्मी ध्रुव ने

इस अवसर पर सिहावा विधायक डॉ.लक्ष्मी ध्रुव ने कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका के मद्देनजर जिले के नगरी क्षेत्र के ओड़ीसा और आंध्रप्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों को सील रखने का आग्रह किया, जिससे कि उधर से वाहन जिले में प्रवेश ना करें। साथ ही झोलाछाप डॉक्टरों पर भी सतत् कार्रवाई करते रहने की बात कही। धमतरी विधायक रंजना साहू, नगरपालिक निगम धमतरी महापौर विजय देवांगन, जिला पंचायत अध्यक्ष कांति सोनवानी, उपाध्यक्ष नीशु चन्द्राकर, शरद लोहाना,मोहन लालवानी सहित जनपदों से जनप्रतिनिधियों ने भी कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने, टीकाकरण इत्यादि पर अपनी बात मंत्री के समक्ष रखी। वीसी में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मयंक चतुर्वेदी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सहित अन्य अधिकारी भी जुड़े रहे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button