उद्योग अपूर्ण शर्तों का पालन समय-सीमा में करें-पर्यावरण मंत्री अकबर

 अकबर ने उद्योगों के संचालन सम्मति के संबंध में की समीक्षा

रायपुर, 1 जुलाई 2021 : छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल द्वारा 1 जनवरी 2019 से 30 जून 2021 तक की अवधि में राज्य में 148 वृहद तथा मध्यम उद्योगों को संचालन सम्मति प्रदान की गई है। यह जानकारी पर्यावरण तथा वन मंत्री मोहम्मद अकबर की अध्यक्षता में आज राजधानी के शंकर नगर स्थित उनकेे निवास कार्यालय में उद्योगों के संचालन सम्मति के संबंध में आयोजित बैठक के दौरान दी गई। बैठक में पर्यावरण संरक्षण मंडल के सदस्य सचिव आर.पी.तिवारी तथा समस्त क्षेत्रीय पर्यावरण अधिकारी उपस्थित थे।

पर्यावरण मंत्री अकबर ने बैठक में मंडल के क्षेत्रीय कार्यालयवार उद्योगों के संचालन सम्मति के संबंध में गहन समीक्षा की। उन्होंने अब तक अपूर्ण शर्तो को पूरा नही करने वाले उद्योगों को उसका समयावधि में पालन सुनिश्चित कराने के लिए अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उद्योगों के अपूर्ण शर्तो का पालन समय-सीमा में नहीं होता है तो संबंधित उद्योग को नोटिस देकर उसके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। राज्य में पर्यावरण संरक्षण मंडल द्वारा 1 जनवरी 2019 से 30 जून 2021 तक 148 वृहद तथा मध्यम उद्योगों को संचालन सम्मति प्रदान की गई है। इनमें से 111 पूर्ण तथा 37 अपूर्ण शर्तो वाले उद्योग शामिल हैं।

संचालन सम्मति उनके द्वारा जल एवं वायु प्रदूषण नियंत्रण हेतु आवश्यक व्यवस्थाओं की स्थापना 

गौरतलब है कि उद्योगों को संचालन सम्मति उनके द्वारा जल एवं वायु प्रदूषण नियंत्रण हेतु आवश्यक व्यवस्थाओं की स्थापना के उपरांत प्रदान की जाती है। अपूर्ण शर्तों का आशय अन्य शर्ते जैसे आंतरिक मार्गों का पक्कीकरण, गारलेण्ड ड्रेन का निर्माण, रेन वॉटर हॉर्वेस्टिंग की व्यवस्था, वृक्षारोपण का विस्तार आदि शामिल है। इसके पालन हेतु उद्योगों से बैंक गॉरंटी लेकर समय दिए जाने का प्रावधान है। इस दौरान क्षेत्रीय कार्यालयवार जारी संचालन सम्मति वाले उद्योगांे की संख्या रायपुर में 72, रायगढ़ में 26, बिलासपुर में 24, भिलाई-दुर्ग में 13, कोरबा में 5, जगदलपुर में 7 तथा अम्बिकापुर में एक है।

राज्य में अपूर्ण शर्तों वाले 37 वृहद तथा मध्यम उद्योगों मे.गोदावरी पॉवर एंड इस्पात लिमिटेड सिलतरा, मे.संभव स्पंज पॉवर लि. सरोरा, मे.स्टार ई-प्रोसेसर बकतरा, मे महेन्द्रा स्पंज एंड पॉवर लि. सिलतरा, मे.भगवती पॉवर एंड स्टील लि. सिलतरा, मे. रियल इस्पात एंड पॉवर लि. बोरझरा, मे.बजरंग एलॉयस लि. बोरझरा, मे.प्रयास स्टील प्लांट सांकरा, मे.सारडा एनर्जी एंड मिनरल्स लि. तथा में.एनआर स्पंज प्रा.लि. बहेसर शामिल है।

यह भी पढ़ें :- उप संचालक डॉ. सी के पांडेय की भावभीनी विदाई,नये उप संचालक डॉ एस पी सिंह का हुआ स्वागत

इसी तरह मे.प्राईम इस्पात लि.बाना, मे.ईमामी सीमेंट लि.ढनढनी, मे.फार्चून मेटालिक्स लि.कपसदा, मे.रायपुर हेण्डलिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रा.लि नेवधा, मे.एनटीपीस लि.तलाईपल्ली कोल माईन प्रोजेक्ट लैलूंगा रोड घरघोड़ा, मे.एनटीपीसी लि.लारा सुपर थर्मल पॉवर प्रोजेक्ट लारा, मे.रूपानाधान स्टील प्रा.लि. सराईपाली, मे.सिंघल इंटरप्राईजेज प्राईवेट लि.तराईमाल शामिल हैं।

इसी तरह मे.अबुंजा सिमेंटस लि.गारे प्टध्8 कोल माईन तमनार, मे.छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर जनरेशन कम्पनी लि.गारे पालमा सेक्टर-3 बजरमुड़ा, मे.चन्द्रहासिनी इस्पात प्रा.लि. गेरवानी, मे.एनआरव्हीएस स्टील लि. तराईमाल, मे.हिन्द इनर्जी एंड कोल बेनिफिसिऐशन (इंडिया) लि.,मे.हिन्द मल्टी सर्विसेस प्रा.लि., मे.जिंदल स्टील एंड पावन लि., मे.महावीर कोल वॉशरीज प्रा.लि.,मे.पारस पावर एंड कोल बेनिफिसिऐशन लि.मे.जे.के.लक्ष्मी सीमेंट लि.मलपुरीखुर्द एवं खासाडीह, मे.स्टील अर्थारिटी ऑफ इंडिया लि.(दल्ली माईन्स), मे.सीसीएम मेटल टेक प्रा.लि. प्लाट नंबर-1 इंजीनियरिंग पार्क हथखोज, मे.कुसमुण्डा एक्सपांशन प्रोजेक्ट साउथ इस्टर्न कोल फिल्ड्स लि. कुसमुण्डा, मे.एन.एम.डी.सी. लि बचेली, मे.एनएमडीसी सीएमडीसी लि.किरंदुल, मे.छत्तीसगढ़ मिनरल डेव्हलपमेंट कार्पोरेशन लि. कच्चे, मे.एनएमडीसी आयरन एंड स्टील प्लांट नगरनार तथा मे.जगन्नाथपुर ओपन कास्ट प्रो.एसईसीएल भटगांव शामिल है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button