जॉब्स/एजुकेशनमध्यप्रदेश

एक ही फोरम पर उपलब्ध होंगी रोजगार लेने और देने वालों की जानकारी

रोजगार सेतु पोर्टल का लोकार्पण 10 जून को

उमरिया : प्रदेश में लौटे प्रवासी श्रमिकों की जानकारी, कुशल और अकुशल श्रेणी में उनकी योग्यता के साथ 10 जून से रोजगार सेतु पोर्टल पर उपलब्ध होगी। इस पोर्टल पर प्रदेश के उद्योगों मं आवश्यक जॉब वेकेंसी की जानकारी भी उपलब्ध होगी। रोजगार चाहने वाले और रोजगार देने वालों की जानकारी एक ही फोरम में लाने से जहाँ उद्यमियों को आवश्यकतानुसार श्रमिक सुविधापूर्वक उपलब्ध हो जायेंगे, वहीं श्रमिकों को रोजगार मिल सकेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रोजगार सेतु पोर्टल का लोकार्पण 10 जून को करेंगे।

रोजगार सेतु पोर्टल

रोजगार सेतु पोर्टल पर सर्वे किये गये सभी प्रवासी श्रमिकों की जानकारी उनके कौशल के अनुसार जिलावार उपलब्ध रहेगा। प्रवासी श्रमिकों में निर्माण श्रमिकों की 43, असंगठित श्रमिकों की 40 और कारखानों में नियोजित श्रमिकों की 9 श्रेणियाँ हैं। श्रमिकों को अपनी जरूरत अनुसार रोजगार देने के इच्छुक व्यक्तिध्संस्थान, रोजगार सेतु के पोर्टल www-RojgarSetu-mp-gov-in पर जा कर लॉगइन एवं पासवर्ड प्राप्त कर सकेंगे। पोर्टल पर पंजीयन के बाद प्रवासी श्रमिकों के संबंध में पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। पोर्टल में प्रवासी श्रमिकों के उपलब्ध मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क किया जा सकेगा।

अपर मुख्य सचिव श्रम डॉ. राजेश राजोरा ने जानकारी दी

अपर मुख्य सचिव श्रम डॉ. राजेश राजोरा ने जानकारी दी है कि रोजगार सेतु पोर्टल पर ऐसे नियोजकों की जानकारी भी प्रदर्शित की जायेगी, जो श्रमिकों की भर्ती के लिये पदवार योग्यता आदि सहित जॉब वेकेन्सी की जानकारी देना चाहते हैं। प्रवासी श्रमिक पोर्टल पर प्रदर्शित उद्यमियों, संस्थानों, नियोजकों से फोन अथवा ई-मेल पर स्वयं भी सम्पर्क कर सकेंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास द्वारा जिन प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराया गया है, उनकी जानकारी भी पोर्टल में उपलब्ध रहेगी।

सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्यम विभाग, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन, खनिज साधन, नगरीय विकास एवं आवास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, जल-संसाधन, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और नर्मदा घाटी विकास विभाग और कलेक्टर्स से नियोजकों को पोर्टल पर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिये बनाये गये रोजगार सेतु पोर्टल के प्रति जागरूक करने तथा इसके उपयोग के लिये प्रेरित करने के लिये कहा गया है।

प्रवासी श्रमिकों के लिये रोजगार के अवसर सृजित करने हेतु औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग, सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं उद्यम विभाग, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग और श्रम विभाग द्वारा संयुक्त रूप से चयनित जिलों में जिला स्तर पर रोजगार मेले भी लगाये जायेंगे।
उल्लेखनीय है कि एक मार्च 2020 के बाद अन्य राज्यों से लौटे प्रवासी श्रमिकों का सर्वे, सत्यापन और पंजीयन के लिये 27 मई से 6 जून तक अभियान चलाया गया है।

Tags
Back to top button