Warning: mysqli_real_connect(): Headers and client library minor version mismatch. Headers:50562 Library:100138 in /home/u485839659/domains/clipper28.com/public_html/wp-includes/wp-db.php on line 1612
दलितों के साथ हुआ अन्याय, अब मिलेगा इतना मुआवजा

दलितों के साथ हुआ अन्याय, अब मिलेगा इतना मुआवजा

पुलिस की शिकायत के मुताबिक, स्कूल के दलित छात्रों को प्रधानमंत्री मोदी के 'परीक्षा पर चर्चा' कार्यक्रम के दौरान स्कूल प्रबंध कमिटी ने बाहर बैठा दिया था

कुल्लू जिले के चेष्ठा स्थित गवर्नमेंट हाई स्कूल में पढ़ने वाले दलित बच्चों को मुआवजे के रूप में 1 लाख रुपये दिए जाएंगे। दरअसल, आरोप है कि 16 फरवरी को आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम ‘परीक्षा पर चर्चा’ में बच्चों के साथ भेदभाव किया गया था।

जिला कल्याण अधिकारी आरसी बंसल ने कहा कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति ऐक्ट 2016 के मुताबिक, पीड़ितों को सहायता के रूप में 1 लाख रुपये देने का प्रावधान है। उन्होंने कहा, ‘पुलिस ने एससी/एसटी ऐक्ट के अनुसार केस दर्ज कर लिया है। हमने उन छात्रों की सूची मांगी है, जो इस पूरे मामले में पीड़ित हैं। एकबार हमें पुलिस से लिस्ट मिलने के बाद हम सहायता राशि बांटना शुरू कर देंगे।’

जानिए, क्या हैं नियम
नियमों के मुताबिक, मुआवजे का भुगतान अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के अधिकारों की रक्षा के लिए किया जाता है। बंसल ने कहा, ‘यह रकम 3 किश्तों में दी जाएगी। पहले 25 फीसदी रकम एफआईआर दर्ज होने के बाद सौंपी जाएगी। इसके बाद 50 फीसदी रकम कोर्ट में पुलिस के द्वारा चार्जशीट दाखिल करने के बाद दी जाएगी। शेष राशि का भुगतान केस के निपटारे के वक्त किया जाएगा। हालांकि, आरोपी यदि दोषी नहीं है तो शेष 25 फीसदी राशि रोक दी जाएगी।’

पीएम मोदी को लिखा पत्र
कई दलित नेताओं ने छात्रों के लिए मुआवजे की मांग के साथ ही स्कूल के सभी शिक्षकों की सेवा समाप्त कर देने की मांग की है। इनमें से कई लोगों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखे हैं। उनका कहना है कि इस तरह की घटनाएं कई अन्य स्कूलों में भी हो रही थीं। मिड-डे मील परोसते वक्त दलित छात्रों को अलग बैठाया जाता था।

दोषियों पर सख्त कार्रवाई का आश्वासन
इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और उनके कई अन्य मंत्री इस बात का आश्वासन दे चुके हैं कि दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। कुल्लू डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर ने भी मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। यही नहीं, संविदा पर काम कर रहे दो शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया है जबकि दो अन्य का तबादला और हेड मास्टर को शिमला भेज दिया गया है।

दर्ज किया गया केस
पुलिस की शिकायत के मुताबिक, स्कूल के दलित छात्रों को प्रधानमंत्री मोदी के ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम के दौरान स्कूल प्रबंध कमिटी ने बाहर बैठा दिया था। पत्र में दावा किया गया है कि दलित छात्रों को मिड-डे मील के वक्त भी अलग बैठाया गया था, इस बात की पुष्टि जांच करने पहुंची टीम ने भी की है। पुलिस ने इस पूरे मामले में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही पीड़ित छात्रों की पहचान की जा रही है, जिन्हें सरकार द्वारा सहायता राशि दी जानी है।

new jindal advt tree advt
Back to top button