राज्य

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हुआ खुलासा, सिर में गोली लगने से हुई इंस्पेक्टर की मौत

गोली मारने से पहले की गई थी पिटाई

बुलंदशहर:

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गौवंश के अवशेष सड़क पर मिलने के बाद मचे बवाल में एक इंस्पेक्टर की गोली लगने से मौत हो गई। हंगामा उस वक्त शुरू हुआ जब गौवंश के अवशेष सड़क पर मिलने के बाद कुछ संगठन इसका विरोध करते हुए सड़कों पर उतर आए।

इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह को गोली मारने से पहले पिटाई की गई थी. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया कि इंस्पेक्टर के सिर में गोली लगने से उनकी मौत हुई.

इससे पहले एडीजी लॉ एंड आर्डर आनंद कुमार ने कहा था कि डॉक्टरों के मुताबिक सिर में किसी ब्लंट ऑब्जेक्ट से चोट लगने से मौत की आशंका है. देर रात आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने की पुष्टि हुई.

इतना ही नहीं बवाल के बाद आए कुछ वीडियो में ऐसा प्रतीत हो रहा है कि भीड़ को समझा रहे इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की टारगेट करके हत्या की गई.

वीडियो में दिख रहा है कि उपद्रवी सुबोध कुमार का वीडियो बना रहे हैं और गोली लगने की बात कर रहे हैं. इतना ही नहीं, उपद्रवी सुबोध कुमार की सर्विस पिस्टल और तीन मोबाइल भी लूटकर फरार हो गए.

फिलहाल जिले में शांतिपूर्ण तनाव को देखते हुए धारा 144 लागू है. शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को मंगलवार सुबह 10 बजे पुलिस लाइन में अंतिम सलामी दी जाएगी. इसके बाद उनके पर्थिव शरीर को पैतृिक घर एटा जिले के तरगवां गांव ले जाया जाएगा.

बता दें शहीद इंस्पेक्टर दादरी के बिसाहड़ा में अख़लाक़ हत्याकांड के जांच अधिकारी भी रहे चुके थे. कोतवाल सुबोध कुमार अखलाक हत्याकांड के समय जारचा थाने में तैनात थे.

गौरतलब है कि सोमवार को हुए बवाल में सुबोध कुमार के अलावा एक ग्रामीण सुमित कुमार की भी मौत गोली लगने से हुई थी. उपद्रवियों ने पुलिस थाने में खड़ी दर्जनों गाड़ियां फूंक डाली.

Summary
Review Date
Reviewed Item
बुलंदशहर : सिर में गोली लगने से हुई मौत, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हुआ खुलासा
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags