कुछ सीट में बसपा चुनाव लड़ने के बजाय पूरे छजकां को ही विलीन कर लेना चाहिए

-छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच: महागठबंधन में दरार, सीजेसीजे पर नीतियों और सिद्धांतों से पीछे हटने का आरोप

रायपुर।

सीजेसीजे के ऋचा जोगी और गीतांजली पटेल सहित आधा दर्जन प्रत्याशी को बसपा में प्रवेश कराकर चुनाव लड़ने पर कटाक्ष करते हुए छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच ने कहा है कि अजीत जोगी जी को चाहिए कि टुकड़ों में बसपा प्रवेश कराने के बजाय पूरी पार्टी को ही बसपा में विलय कर लें और सभी 90 सीट में बसपा के चिन्ह पर चुनाव लड़ें।

छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच के अध्यक्ष राजकुमार गुप्त ने कहा है कि छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी का गठन क्षेत्रवाद के आधार पर किया गया था, छत्तीसगढ़ की जनता भाजपा कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों के क्षेत्रीय विकल्प के रूप में पार्टी को देख रहे थे किंतु उत्तरप्रदेश में स्थापित राष्ट्रीय पार्टी के साथ चुनावी गठबंधन करके सीजेसीजे ने छत्तीसगढ़ियों की भावनाओं पर कुठाराघात किया है,

छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच ने एक क्षेत्रीय विकल्प के रूप में सीजेसीजे को निशर्त समर्थन देने का निर्णय लिया था किंतु बसपा से चुनावी गठबंधन करने के कारण मंच ने समर्थन करने का निर्णय वापस लेकर विधान सभा चुनाव में प्रत्याशी खड़े करने का निर्णय लिया है,

छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच ने आरोप लगाया है कि चुनावी लाभ उठाने और सत्ता में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए सीजेसीजे उन नीतियों और सिद्धांतों से पीछे हट गई है जिनको लेकर दल का गठन हुआ था।

Back to top button