छत्तीसगढ़

पटवारी मुकेश खोब्रागढ़े को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश

राजनांदगांव : जिले के डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम घोटिया के निवासियों को शीघ्र ही पेयजल समस्या से निजात मिलने वाली है। ग्राम घोटिया में आयोजित जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में ग्रामीणों द्वारा ग्राम घोटिया के वार्ड नंबर एक और दो में पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित कराने हेतु पानी टंकी के निर्माण के निर्माण की मांग पर कलेक्टर ने कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को समस्या के निराकरण हेतु तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। ज्ञातव्य हो कि आज 22 जुलाई को जिले के डोंगरगढ़ विकासखंड के सुदूर वनांचल के ग्राम घोटिया में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री भीम सिंह ने घोटिया जनसमस्या निवारण शिविर में उपस्थित आस-पास के 5-7 ग्राम पंचायतों के सरपंचों एवं ग्रामीणों से सीधे मुखातिब होकर मांगों एवं समस्याओं के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारियों को तलब कर ग्रामीणों के मांगों एवं समस्याओं के निराकरण हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। शिविर में आज जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री चंदन कुमार, जनपद अध्यक्ष श्रीमती किरण साहू, जिला पंचायत सदस्य श्री मुरली वर्मा एवं एसडीएम श्री सी.एल. मारकण्डे, सहायक कलेक्टर डॉ. रवि मित्तल विशेष रूप से उपस्थित थे। इसी तरह ग्रामीणों के शिकायत पर नामांतरण, बटांकन एवं बटवारा आदि के अद्यतीकरण के कार्य में लापरवाही बरतने पर पटवारी हल्का नंबर एक घोटिया में पदस्थ पटवारी श्री मुकेश खोब्रागढ़े को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिए हैं। शिविर में आज विभिन्न विभागों से प्राप्त कुल 123 आवेदनों में 93 आवेदनों को मौके पर ही निराकृत किया गया। कलेक्टर ने राजस्व विभाग के अधिकारियों को मिशन बंदोबस्त रिकार्ड एवं अन्य अभिलेख आवेदकों को तहसील कार्यालय में ही उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीणों को समझाईश देते हुए कहा कि इन अभिलेखों के लिए जिला कार्यालय राजनांदगांव का चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं है। इन सभी दस्तावेजों को तहसील कार्यालयों से प्राप्त की जा सकती है। कलेक्टर ने ग्रामीणों से पटवारियों की नियमित उपस्थिति के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने बताया कि पटवारियों को प्रत्येक सोमवार एवं मंगलवार को मुख्यालय में उपस्थित रहना अनिवार्य है। उन्होंने इसकी जानकारी ग्राम पंचायत मुख्यालयों में भी प्रदर्शित कराने को कहा।
इस दौरान कलेक्टर ने उपस्थित जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों को मंच में बुलाकर पूरी संवेदनशीलता के साथ उनके मांगों एवं समस्याओं को सुनी। उन्होंने आस-पास के सरपंचों से बातचीत कर शासन की योजनाओं की क्रियान्वयन की जानकारी भी प्राप्त की। श्री भीम सिंह ने सरपंचों से स्कूलों में शिक्षकों एवं बच्चों की नियमित उपस्थिति के अलावा अध्ययन-अध्यापन तथा मध्यान्ह भोजन संचालन के संबंध में जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना की मजदूरी भुगतान, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजनान्तर्गत हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन तथा खुले में शौच मुक्त अभियान के अंतर्गत शत प्रतिशत घरों एवं शौचालय निर्माण एवं उसके इस्तेमाल के संबंध में जानकारी ली। श्री भीम सिंह ने आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों एवं कार्यकर्ताओं की नियमित उपस्थिति तथा बच्चों को कुपोषण से मुक्ति दिलाने हेतु किये जा रहे उपायों के संबंध में भी पूछताछ की। उन्होंने बच्चों को कुपोषण से निजात दिलाने हेतु आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों को नियमित रूप से दूध पिलाने एवं पौष्टिक भोजन भी अनिवार्य रूप से प्रदान कराने के निर्देश सरपंचों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं तथा महिला एवं बाल विकास विभाग को दिए। मौके पर उपस्थित सरपंचों और सचिवों को 14वें वित्त राशि का उपयोग बच्चों के कुपोषण दूर करने के कार्य में करने को कहा। महतारी जतन योजना के कार्यों की जानकारी लेते हुए गर्भवती माताओं की आंगनबाड़ी केन्द्रों में उपस्थिति के संबंध में भी जानकारी ली। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अमले से गर्भवती माताओं को महतारी जतन योजनान्तर्गत आंगनबाड़ी में नियमित रूप से उपस्थित होकर भोजन प्राप्त करने की समझाईश देने को कहा।
इस दौरान ग्राम पंचायत देवकट्टा के सरपंच द्वारा देवकट्टा में उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन निर्माण, स्वास्थ्य कर्मियों की पदस्थापना तथा विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने की मांग की। ग्राम पंचायत बिच्छीटोला के सरपंच ने ग्राम बिच्छीटोला में मुक्तिधाम निर्माण एवं ट्रांसफार्मर लगाने की मांगी की। कलेक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को तलब कर ग्राम बिच्छीटोला में तत्काल ट्रांसफार्मर व्यवस्था सुनिश्चित करने करने के निर्देश दिए। सरपंच ग्राम पंचायत बीजनापुर श्री नरसिंग वर्मा ने बीजनापुर में पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु पानी टंकी निर्माण करने की मांग की। ग्राम पंचायत सहसपुर के सरपंच द्वारा स्कूल एवं आंगनबाड़ी भवन मरम्मत कराने तथा स्कूलों में शिक्षकों की पदस्थापना की मांग की। कलेक्टर ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को मंच पर बुलाकर ग्रामीणों की मांगो एवं शिकायतों के निराकरण हेतु तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। शिविर में जनपद सदस्य श्री रामेश्वर रामटेके, सरपंच श्रीमती कुमारी बाई सहित तहसीलदार श्री कंवर, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के अलावा जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Back to top button