राष्ट्रीय

नीरव मोदी के अवैध बंगले को गिराने के निर्देश

मुंबईः महाराष्ट्र के एक मंत्री ने आज कहा कि अधिकारियों को भगोड़े हीरा कारोबारी और पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के रायगढ़ जिले में स्थित अवैध बंगले को ध्वस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। यह कदम तब उठाया गया है जब कई दिनों पहले यहां उच्च न्यायालय ने बंगले के खिलाफ कार्रवाई ना करने को लेकर राज्य सरकार की खिंचाई की थी। पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने यहां राज्य सचिवालय में रायगढ़ के जिलाधीश विजय सूर्यवंशी के साथ तटीय जिले में अवैध बंगलों पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने के बाद इन्हें ध्वस्त करने के आदेश दिए।

सूर्यवंशी ने कहा कि अवैध बंगलों में से एक हीरा कारोबारी और पीएनबी घोटाले का सह आरोपी मेहुल चोकसी का है लेकिन कुछ अन्य अवैध इमारतों सहित उस बंगले को गिराने पर अदालत ने रोक लगा रखी है। जिलाधीश ने कहा, सरकार अदालत से अनुरोध करेगी कि चोकसी और अन्य के अवैध बंगले गिराने पर लगा रखी रोक हटाए ताकि हम उन्हें भी ध्वस्त कर सकें। मंत्री ने अवैध बंगलों की जानकारियां दी।

कदम ने कहा, कुल मिलाकर रायगढ़ जिले के अलीबाग में 121 और मुरुद में 151 अवैध बंगले हैं। उन्होंने कहा, इनमें से कुछ बंगले फिल्म स्टार और उद्योगपतियों के हैं। आज, मैंने रायगढ़ के जिलाधीश को नीरव मोदी का अवैध बंगला गिराने के लिए कहा जिसने भारत को लूटा और फरार हो गया। वह राज्य सचिवालय में समीक्षा बैठक के बाद मीडिया को संबोधित कर रहे थे। जिलाधीश कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि मोदी का बंगला किहीम गांव में स्थित है जबकि चोकसी का बंगला आवास गांव में है। कदम ने बताया कि ये सभी बंगले तटीय नियमन जोन (सीआरजेड) नियमों और अतिरिक्त निर्माण का उल्लंघन करते हैं।

अधिकारी ने बताया कि अलीबाग में 121 अवैध बंगलों में से 101 पर अदालत ने रोक लगा रखी है। इसी तरह मुरुद में 151 अवैध बंगलों में से 61 पर अदालत ने रोक लगा रखी है। मंत्री ने बताया कि अभी के लिए स्थानीय निवासियों द्वारा बनाए गए अवैध बंगलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सूर्यवंशी ने कहा कि सरकार प्रवर्तन निदेशालय से मंजूरी मिलने के बाद इमारतों को ध्वस्त करने की प्रक्रिया शुरू करेगी। ईडी ने करोड़ों रुपये के पीएनबी घोटाले की जांच के तौर पर मोदी का बंगला कुर्क कर दिया है। दोनों हीरा व्यापारी इस बड़े बैंकिंग घोटाले के मुख्य आरोपी हैं और भारत से फरार हो गए हैं।

Tags
Back to top button