बॉर्डर पर तनाव जारी, घुसपैठियों की गतिविधियों के बाद सुरक्षा बढ़ी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में नरम रुख दिखाते हुए कहा हो कि पाकिस्तान को परेशान करना उनका मकसद नहीं है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में नरम रुख दिखाते हुए कहा हो कि पाकिस्तान को परेशान करना उनका मकसद नहीं है.

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि दोनों देश आपस में काफी लड़ चुके हैं, अब उन्हें गरीबी और बीमारी से लड़ना चाहिए. लेकिन पाकिस्तान है कि भारत को गणतंत्र दिवस के मौके जख्म देने की साजिशें रच रहा है.

सूत्रों के हवाले से खुफिया जानकारी मिली है कि जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आतंकियों की मूवमेंट हो रही है. बताया जा रहा है कि एलओसी के आसपास 3-4 आतंकियों का समूह एक गांव में मौजूद है. जो गणतंत्र दिवस के मौके पर घुसपैठ करने और भारतीय सेना पोस्ट पर हमले की साजिश रच रहा है.

इस खुफिया अलर्ट के बाद सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. ये जानकारी ऐसे वक्त सामने आई है जब सीमा पार से पाकिस्तान लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा है.

रविवार शाम भी पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू कश्मीर के नौशेरा, राजौरी और अखनूर सेक्टरों में एलओसी पर भारी गोलाबारी की. ये पाकिस्तान की तरफ से लगातार चौथे दिन संघर्षविराम का उल्लंघन था.

सीमा पर जम्मू, कठुआ, सांबा, पुंछ और राजौरी जिलों में गुरुवार से पाकिस्तानी गोलीबारी में मारे जाने वालों की संख्या बढ़ कर 12 हो गई है.

गुरुवार को बीएसएफ का एक जवान और एक किशोरी मारी गई थी, जबकि शुक्रवार को दो नागरिक और बीएसएफ का एक जवान एवं थल सेना का एक जवान शहीद हुए थे. इस गोलीबारी में 40 से अधिक लोग घायल भी हो गए थे.

बता दें कि रविवार को लखनऊ में एक कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि भारत की ताकत का एहसाल पूरी दुनिया को हो गया. उन्होंने कहा था कि भारत ने दिखा दिया है कि वो सीमा के इस पार ही नहीं, उस पार जाकर भी मुंहतोड़ जवाब दे सकता है.

1
Back to top button