राष्ट्रीय

नवरात्रि पर धार्मिक स्थलों पर आतंकी हमले का खुफिया अलर्ट, वैष्णो देवी मंदिर में सुरक्षा चाक चौबंद

इस बार त्यौहारों के मौसम में पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में बड़ी आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की साजिश रच रहा है.

कटरा: इस साल त्योहारों के मौसम में पाकिस्तान जम्मू कश्मीर के हिंदू बहुल इलाकों और बड़े तीर्थ स्थलों पर हमले की साजिश रच रहा है. सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जारी किए गए इस अलर्ट के बाद जम्मू के कटरा में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं और पूरे यात्रा मार्ग पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है.

इस बार त्यौहारों के मौसम में पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में बड़ी आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की साजिश रच रहा है. सुरक्षाबलों ने इस बाबत एक एलर्ट जारी करते हुए कहा है कि पाकिस्तान इस साल नवरात्रि और उसके बाद दिवाली और दशहरे पर जम्मू में हिंदू बहुल इलाकों और तीर्थ स्थलों पर हमला कर सकता है. हमले के लिए पाकिस्तान ने आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद को जिम्मेदारी दी है. सुरक्षाबलों द्वारा जारी किए गए इस अलर्ट के बाद जम्मू समेत माता वैष्णो देवी की सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है.

कटरा में न केवल जम्मू कश्मीर पुलिस बल्कि सेना और अर्धसैनिक बलों ने भी सुरक्षा की कमान संभाल ली है. कटरा और भवन में जहां सुरक्षाबलों के जवानों की तैनाती को बढ़ा दिया गया है. वहीं कटरा तक कटरा से भवन तक की 14 किलोमीटर ट्रैक पर ट्रेन से नजर रखी जा रही है. सुरक्षा ड्रोन के जरिए भवन के आसपास के पहाड़ियों पर भी हर तरह की गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं.

इसके साथ ही कटरा और भवन में क्विक रिएक्शन टीम की भी तैनाती कर दी गई है. किसी तरह के आतंकी खतरे के जवाब देने के लिए सुरक्षा बल के जवानों को कटरा यात्रा मार्ग भवन और त्रिकुटा पहाड़ियों पर जगह-जगह तैनात कर दिया गया है.

कटरा के एसपी अमित भसीन के मुताबिक नवरात्रों के दौरान सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम पहले से ही किए गए हैं. उनके मुताबिक कटरा में आठ क्विक रिएक्शन टीम को तैनात कर दिया गया है. इसके साथ ही नाकों पर पुलिस की नफरी को बढ़ा दिया गया है.

कटरा और आसपास के इलाकों में जगह-जगह पर विशेष नाके लगाए जा रहे हैं ताकि आने वाले हर वाहन की चेकिंग की जा सके. अमित भसीन के मुताबिक कटरा के साथ सटी त्रिकुटा पहाड़ियों पर सेना, अर्धसैनिक बल और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान लगातार गश्त कर रहे हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button