शिक्षा में आगे बढ़ने के लिए जिद्द व जिज्ञासा अति आवश्यक

प्रतिभावान छात्रों का सम्मान समारोह संपन्न

जांजगीर-चांपा : शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए बच्चों में जिद्द और विषय के प्रति जिज्ञासा होनी चाहिए, तभी सपने को साकार किया जा सकता है। कलेक्टर नीरज कुमार बनसोड़ आज जिला पंचायत परिसर स्थित पुराना लाईवलीहुड कालेज के सभाकक्ष में माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित कक्षा 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा के मेरिट में उत्तीर्ण मेधावी विद्यार्थियों के लिए आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

कलेक्टर बनसोड़ ने प्रतिभावान विद्यार्थियों को अपनी बधाई और शुभकामना देते हुए कहा कि शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है, जिसके द्वारा ऊंचे से ऊंचा पद हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को आगे बढ़ने के लिए लक्ष्य निर्धारित कर मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई करनी चाहिए। ऐसे विद्यार्थियों को आगे बढ़ने के लिए कोई रोक नहीं पाएगा,

जो विषय के प्रति बारिक जिज्ञासा व जानने की जिद््द ले कर आगे बढ़े, सफलता उनके कदम चुमेंगी। शिखर योजना के तहत आवासीय शिक्षा दी जा रही है। शिखर योजना के तहत कक्षा 10वीं बोर्ड परीक्षा में 8 और आकांक्षा योजना के तहत कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा में 9 विद्यार्थियों ने मेरिट में उत्तीर्ण होकर जिले को गौरवान्वित किया है।

उन्होंने कहा कि आगामी शिक्षा सत्र में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कैरियर गाईडेन्स का संचालन किया जाएगा। इस अवसर पर कलेक्टर बनसोड़ ने विद्यार्थियों के साथ अपने अनुभवों को भी साझा किया। प्रतिभावान विद्यार्थियों का सम्मान समारोह में जांजगीर एवं सक्ती के जिला शिक्षा अधिकारी, अभिभावकगण, शिक्षक-शिक्षिकाएं और बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि 12वीं की बोर्ड परीक्षा में स्वामी विवेकानंद हायर सेकेण्डरी स्कूल करनौद जांजगीर के छात्र अभिषेक कुमार डडसेना ने राज्य स्तर पर छठवां स्थान और 10वीं बोर्ड परीक्षा में लायंस इंग्लिश मीडियम हाई स्कूल चांपा जांजगीर के छात्रा कुमारी सृष्टि गौर ने राज्य स्तर पर आठवां एवं सरस्वती शिशु मंदिर हाई स्कूल चन्द्रपुर के छात्रा कुमारी प्रियंका सिदार ने राज्य स्तर पर दसवां स्थान प्राप्त कर जिले को गौरवान्वित किया है।

इसी तरह कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा में 16 और 10वीं बोर्ड परीक्षा में 12 विद्यार्थियों ने जिले में दूसरे से दसवां स्थान प्राप्त किया है। इसी क्रम में जिला प्रशासन द्वारा प्रतिभावान बच्चों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से संचालित शिखर एवं आकांक्षा योजना के तहत 17 विद्यार्थियों ने मेरिट में उत्तीर्ण हुए है।

Back to top button