31 मई को अंतराष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस

बेमेतरा : धुम्रपान से होने वाले दुष्परिणामों के प्रति समाज में चेतना विकसित करनेे हेतु प्रतिवर्ष 31 मई को अंतराष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस का आयोजन किया जाता है। जिससे जन सामान्य में धूम्रपान एवं तम्बाखू सेवन करने के प्रवृत्ति की रोकथाम हो सके। प्रदेश के समाज कल्याण संचालनालय महानदी खण्ड रायपुर द्वारा कलेक्टरों को परिपत्र भेजकर तम्बाखू सेवन के दुष्प्रभाव की जानकारी देने की अपील की गई है।

जारी पत्र में कहा गया है कि तम्बाखू या तम्बाखूयुक्त निर्मित विभिन्न उत्पादों के सेवन से सभी वर्गाे में गम्भीर व्याधियां होती है जो सभी के लिए चिंता का विषय है। इस प्रवृत्ति के विरूद्व व्यापक जन चेतना विकसित करने आपके अधीनस्थ समस्त विभागों जनसामान्य, समाचार पत्रों के प्रतिनिधियों, स्वैच्छिक संस्थाओं, एनजीओ, प्रतिष्ठित नागरिकों, जनप्रतिनिधियों आदि के सहयोग से कार्यक्रम आयोजित कर नशा पान के दुष्परिणामों को प्रचारित करने की अपील की गई है।

जारी पत्र में कहा गया है कि 31 मई को निम्नानुसार कार्यक्रम आयोजित किये जा सकते है। तम्बाखू सेवन के दुष्प्रभाव पर चर्चा व उसके दुष्प्रभाव की जानकारी समुदाय में प्रचारित करना, समुदाय के सहयोग से नशामुक्ति रैली, नुक्कड़ सभाए तथा नशामुक्ति हेतु विभिन्न प्रतियोगितांए, विषयांतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम,

नशामुक्ति साहित्य का वितरण, नशामुक्ति प्रदर्शनी का आयोजन, आकाशवाणी एवं दूरदर्शन से विषयांतर्गत प्रेरक नाटक, गीत परिचर्चा आदि का जनहित में निःशुल्क प्रसारण, एवं यथासंभव योगाचार्याें के मार्गदर्शन में योगाभ्यास का प्रदर्शन तथा इससे होन वाले लाभ पर व्याख्यान आदि शामिल है।

Back to top button