बॉलीवुडमनोरंजन

International Women’s Day 2018: गूगल ने महिलाओं को समर्पित किया डूडल

वैसे तो पहली बार विमेंस डे 28 फरवरी 1909 में न्यूयॉर्क में मनाया गया था. लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है. इस दिन को गूगल ने डूडल बनाकर इंटरनेशनल विमेंस डे पर महिलाओं और उनके जज्बे को सलाम किया है

नई दिल्ली: वैसे तो पहली बार विमेंस डे 28 फरवरी 1909 में न्यूयॉर्क में मनाया गया था. लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है. इस दिन को गूगल ने डूडल बनाकर इंटरनेशनल विमेंस डे पर महिलाओं और उनके जज्बे को सलाम किया है.

लेकिन 1910 में 8 मार्च निर्धारित किया गया. 1975 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी इसे अपना लिया, और अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को इस तरह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली. International Women’s Day 2018 का थीम टाइम इज नॉउः रूरल एंड अर्बन एक्टिविस्ट्स ट्रांसफॉर्मिंग विमेंस लाइव्ज है.

इंटरनेशनल विमेंस डे पर महिलाओं को लेकर कई तरह के आयोजन किए जाते हैं. सम्मेलन होते हैं. एग्जिबिशन लगती हैं, और कई तरह के मेले भी लगते हैं. इसी तरह हर बड़े लेखक ने महिलाओं पर अपने बेबाक विचार भी रखे हैं.

यहां फैशन डिजाइनर क्रिश्चियन डियोर से लेकर इराक के पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन तक के महिलाओं के बारे में विचार दिए जा रहे हैं. पढ़ें 10 बेहतरीन Quotes:

1. महिला टीबैग की तरह ही है, जब तक आप उसे गर्म पानी में न डालें पता ही नहीं चलता वह कितनी स्ट्रॉन्ग है. -एलियानोर रूजवेल्ट

2. महिलाओं के बाद फूल ही ऐसी खूबसूरत चीज है जो भगवान ने इस दुनिया को दी है. -क्रिश्चियन डियोर

3. महिलाएं प्यार करने के लिए होती हैं, समझने के लिए नहीं. -ऑस्कर वाइल्ड

4. आप किसी पुरुष को शिक्षित करते हैं तो एक पुरुष शिक्षित होता है. आज एक महिला को शिक्षित करते हैं तो पूरी पीढ़ी शिक्षित हो जाती है. –ब्रिघम यंग

5. मैं मजबूत हूं, महत्वाकांक्षी हूं और जानती हूं मुझे क्या चाहिए. अगर यह मुझे बुरा बनाता है तो ठीक है. -मैडोना

6. औरत होने के नाते मेरा कोई देश नहीं है. औरत होने के नाते में कोई देश नहीं चाहती. एक औरत होने के नाते, पूरी दुनिया ही मेरा देश है. -वर्जिनिया वुल्फ

7. अच्छी लड़कियां जन्नत में जाती हैं, और बुरी लड़कियां हर जगह. -मे वेस्ट

8. हमारे समाज का आधा हिस्सा महिलाएं हैं. हमारा समाज तब तक पिछड़ा और बेड़ियों में बंधा रहेगा जब तक महिलाएं आजाद, शिक्षित और ज्ञान से लबरेज नहीं होंगी. – सद्दाम हुसैन

9. मुझे लगता है कि पुरुषों की बराबरी करने का दिखावा करने वाली महिलाएं बेवकूफ हैं, वे पुरुषों से कहीं सुपीरियर हैं और हमेशा रही हैं. -विलियम गोल्डिंग

10. इस दुनिया में हम जो भी देखते हैं वह महिलाओं की रचनात्मकता का नतीजा है. –मुस्तफा कमाल अतातुर्क

Summary
Review Date
Reviewed Item
International Women’s Day 2018: गूगल ने महिलाओं को समर्पित किया डूडल
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *