अंतर्राज्यीय कार्यशाला तीन दिसम्बर से, छत्तीसगढ़ सहित नौ राज्यों के प्रतिनिधि होंगे शामिल

रायपुर।

छत्तीसगढ़ पुलिस (अपराध अनुसंधान विभाग) द्वारा राज्य में बाल हितैषी पुलिस प्रणाली अपनाने के लिए पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में बाल अधिकार विषय पर पाठ्यक्रम तैयार करने राजधानी रायपुर में तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। इसमें छत्तीसगढ़ सहित नौ राज्यों के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

यह कार्यशाला इस महीने की तीन तारीख को स्थानीय होटल कोर्टयार्ड मैरियेट में सवेरे 10.30 बजे शुरू होगी। पुलिस महानिदेशक ए.एन. उपाध्याय कार्यशाला का शुभारंभ करेंगे। यूनिसेफ के सहयोग से होने वाली कार्यशाला में इसके लिए पाठ्यक्रम तैयार करने के बारे में विषय-विशेषज्ञों और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ चर्चा होगी।

पुलिस उप महानिरीक्षक नेहा चंपावत ने बताया कि यूनिसेफ के सहयोग से आयोजित इस कार्यशाला में छत्तीसगढ़ सहित ओड़िशा, मेघालय, राजस्थान, महाराष्ट्र, दिल्ली, तेलंगाना, असम और उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधि शामिल होंगे। कार्यशाला में विचार मंथन से मिलने वाले निष्कर्षों के आधार पर छत्तीसगढ़ पुलिस एकादमी तथा राज्य के पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में बाल हितैषी पुलिस प्रणाली के लिए पाठ्यक्रम बनाकर लागू किया जाएगा।

Back to top button