राष्ट्रीय

जम्मू में घुसपैठ की साजिश, BSF का एक जवान शहीद

जम्मू : सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के जवानों ने जम्मू संभाग के सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) से आतंकियों की घुसपैठ कराने की पाकिस्तान की साजिश को नाकाम कर दिया है। पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब देते हुए सीमा सुरक्षाबल का एक जवान शहीद हो गया। मंगलवार सुबह तक जारी गोलाबारी से सीमांत क्षेत्र में दहशत है। सीमा सुरक्षाबल ने 19 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य के दौरे को ध्यान में रखते हुए हाई अलर्ट कर दिया है।

देश की सरहद की रक्षा करते हुए शहादत देने वाले सीमा सुरक्षाबल के जवान देवेन्द्र सिंह बघेल, लखनपुर, आगरा (उत्तर प्रदेश) के रहने वाले थे। सीमा सुरक्षाबल की 173वीं बटालियन की बी कंपनी के 28 वर्षीय जवान देवेन्द्र सिह पुत्र नारायण सिह सात साल पहले सीमा सुरक्षाबल में शामिल हुए थे। वह कुछ समय से जम्मू संभाग के कठुआ जिले के हीरानगर सीमा पर तैनात रहकर घुसपैठ कराने के पाकिस्तानी मंसूबों को नाकाम कर रहे थे।

पाकिस्तान की अकारण गोलाबारी से सीमा पर उपजे हालात का जायजा लेने के लिए सीमा सुरक्षाबल के डीजी केके शर्मा मंगलवार को जम्मू पहुंच गए। उन्होंने दोपहर करीब डेढ़ बजे सीमा सुरक्षाबल फ्रंटियर मुख्यालय में शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित की। जम्मू दौरे के दौरान उन्होंने सीमा के सुरक्षा हालात का भी जायजा लिया।

हीरानगर के बोबियां इलाके में रविवार देर रात पांच आतंकियों की घुसपैठ के बाद पाकिस्तान ने चंद किलोमीटर दूर स्थित सांबा सेक्टर के मंगू चक में सोमवार देर रात घुसपैठ कराने के लिए गोलाबारी शुरू कर दी। सीमा प्रहरियों ने रात करीब 11 बजे आतंकियों के एक दल को सीमा के पास देखकर एलएमजी से गोलियां दागकर उन्हें भगा दिया। कुछ देर बाद यह दल फिर सीमा पर दिखा और उसे कवर फायर देने के लिए पाकिस्तान ने गोलीबारी शुरू कर दी। सीमा सुरक्षाबल की जवाबी कार्रवाई के बाद सीमा पार से मोर्टार के गोले दागने का सिलसिला शुरू हो गया। दुश्मन ने मंगू चक के साथ कटाव पोस्ट पर भी गोले दागे।

रात करीब सवा बारह बजे मोर्चे से फायरिग कर रहे देवेन्द्र सिह बघेल आंख में गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। इलाज के लिए देर रात जम्मू ले जाते समय रास्ते में वह वीरगति को प्राप्त हो गए। सीमा पर गोलाबारी का सिलसिला सुबह चार बजे तक चला। सीमा सुरक्षा बल की जवाबी कार्रवाई में सीमा पार भी नुकसान होने की सूचना है। इसी बीच मंगलवार दोपहर करीब दो बजे शहीद को जम्मू में श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद पार्थिव शरीर को सैन्य सम्मान के साथ आगरा, उत्तर प्रदेश भेज दिया गया।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.