Pegasus फोन टैपिंग केस में फ्रांस में शुरू कर दी गई जांच

भारत में भी जारी है जासूसी कांड पर विवाद

नई दिल्ली:Pegasus स्पाइवेयर का इस्तेमाल करके करीब 1000 फ्रांसीसी लोगों को निशाना बनाया गया और उनके फोन टैप किए गए. अब इस मामले में फ्रांस में जांच शुरू कर दी गई है.

जिन पत्रकारों के फोन टैप किए गए उनमें Le Monde, Le Canard Enchaîné, Le Figaro, Agence France-Presse और France Télévisions के पत्रकार भी शामिल हैं. स्थानीय मीडिया के अनुसार, फ्रांस को जो कंपनी इस पूरी जांच में शामिल रही है उससे जुड़े एक पत्रकार का भी फोन हैक किया गया था.

भारत में भी जारी है जासूसी कांड पर विवाद

आपको बता दें कि Pegasus जासूसी विवाद के कारण भारत समेत दुनिया के कई देशों में बवाल जारी है. भारत में करीब 40 से अधिक पत्रकारों, राहुल गांधी समेत कई विपक्षी नेताओं, केंद्रीय मंत्रियों समेत अन्य लोगों के फोन हैक किए जाने की बात कही गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स में इन दावों के बाद विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है. संसद के दोनों सदनों में लगातार इस मसले पर हंगामा हो रहा है. वहीं, सरकार की ओर से इन आरोपों को नकार दिया गया है. सरकार ने साफ किया है कि वह किसी जासूसी में शामिल नहीं है ये आरोप सिर्फ छवि बिगाड़ने के लिए लगाए गए हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button