छत्तीसगढ़

जांच टीम द्वारा 31 प्रकरण दर्ज, किसानों से धान खरीदी हेतु सतत की जाएगी निगरानी

मनीष शर्मा :

मुंगेली :

वास्तविक किसानों से धान खरीदी किये जाने का निर्देश है। कोचियों/बिचौलियों से तथा अन्य किसानों से किसी अन्य कृषक के ऋण पुस्तिका में धान की बिक्री न हो को सुनिश्चित करने के लिये कलेक्टर के निर्देशानुसार अनुविभाग स्तरीय राजस्व, खाद्य, मण्डी एवं सहकारिता की संयुक्त जॉच टीम गठित की गई है।

जिसके द्वारा सतत कार्यवाही जारी है, जिसमें अब तक कुल 31 प्रकरण दर्ज किये गये है जिसमें नियम विपरित धान खरीदी पाये जाने के कारण कोचियों/बिचौलियों से 1343 बोरी धान 537 क्विंटल) पर कार्यवाही की गई है। जिसमें 05 गुना मण्डी टैक्स के रूप में 44250 रूपये वसूली की गई है।

कलेक्टर डी. सिंह ने निर्देशित किया है कि उपार्जन केन्द्रों का सतत निगरानी रखें। जांच टीम को धान उपार्जन केन्द्र चंदली, अनुभाग लोरमी में जॉच के दौरान पाया गया कि कृषक मुनीराम अपने पिता रामजी के किसान पर्ची क्र. 46340 में स्वयं के 75 बोरी धान लाने के साथ-साथ कलमीडीह निवासी गौतम का 47 बोरी धान भी विक्रय हेतु लाया था।

जिसमें सघन पूछताछ करने पर मुनीराम द्वारा स्वीकार किया गया कि उसके द्वारा स्वयं के पिता के पर्ची में मात्र 75 बोरी धान ही बेचने लाया गया था, शेष 47 बोरी उसका नहीं है जो कलमीडीह निवासी गौतम का होना बताया गया जिसे गौतम के द्वारा दूसरे किसान के ऋण पुस्तिका में बेचने का प्रयास किया जा रहा था।

मामला दूसरे किसान के ऋण पुस्तिका में फर्जी बिक्री का पाये जाने के कारण 47 बोरी धान जप्त कर केन्द्र प्रभारी बेदी प्रसाद चंद्राकर के सुपुर्दी में दिया गया है। साथ ही उपार्जन केन्द्र फंदवानी में केन्द्र प्रभारी द्वारा शासन द्वारा तय किये गये

मानक धान की मात्रा 40.00 किलोग्राम के बजाय कृषकों से 02-03 किलोग्राम अधिक 42.00-43.00 किलोग्राम) धान की खरीदी किया जाना पाया गया है जो कि उपार्जन केन्द्र प्रभारी के द्वारा अपने पद का दुरूपयोग एवं व्यक्तिगत लाभ अर्जित किये जाने पर उक्त दोनों प्रकरणों को कलेक्टर के समक्ष आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रस्तुत किया गया है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
जांच टीम द्वारा 31 प्रकरण दर्ज, किसानों से धान खरीदी हेतु सतत की जाएगी निगरानी
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags