आईपीएल : बोरिंग ऑक्शन में ऑक्शनर रिचर्ड ने गुदगुदाया भी

आईपीएल की शुरुआत से ही रिचर्ड आईपीएल ऑक्शन में ऑक्शनर की भूमिका निभाते आ रहे हैं

आईपीएल : बोरिंग ऑक्शन में ऑक्शनर रिचर्ड ने गुदगुदाया भी

आईपीएल-11 में प्लेयरों की ऑक्शन बेंगलुरु में जारी है। पहले दिन का सेशन काफी बिजी रहा। काम झमेलों की वजह से कभी-कभी एकसाथ आने वाले विभिन्न फ्रैंचाइजी मालिक इस दिन एक टेबल पर बैठे नजर रहे। ऑक्शन दौरान 578 प्लेयरों की ऑक्शन होनी थी। ऐसे में इस लंबी और बोरिंग प्रक्रिया को अगर किसी ने रोचक बनाया तो वह थे। आईपीएल के ऑक्शनर रिचर्ड मैडले। रिचर्ड ने पूरी बोली के दौरान फ्रैंचाइजी मालिकों का मनोरंजन किया। वो भी अपने ब्रिटिश एसेंट के कारण।
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
बीबीसी के पत्रकार रिचर्ड मैडले मूल तौर पर वेल्स के रहने वाले हैं। अपने इंग्लिश एसेंट के कारण उन्होंने कई भारतीय प्लेयरों के नाम लेने में फंबल किया। यही बात फ्रैंचाइजी मालिकों को बार-बार गुदगुदाती रही। रिचर्ड अपने लय में इस कद्र खोए थे कि पियूष चावला को पेओष चौला बुलाते रहे। जब शुरुआती लम्हों में वह समझ गए कि वह लगातार फंबल करते आ रहे हैं तो वह हर खिलाड़ी का नाम बोलकर अपने साथ बैठे साथियों को देखते। अगर नाम गलत होता तो वह दुरुस्त करवा देते। रिचर्ड भी इसके बाद पेओष, पेओश, पीयूष, पियोष, चौवला, चवला, चावला बोलते-बोलते नाम को सही तरीके से बोलने में कामयाब हो जाते।

कुछ चुनिंदा नाम जो रिचर्ड ने अपने हिसाब से सही बोले-
इसवर (ईश्वर), चौला (चावला), संगवेन (सांगवान) डूमनी (डुय्मिनी) टैनमेय (तन्मय)
उनमुकत चैन (उन्मुक्त चंद) अैमनदीप (अमनदीप), ढिल्लो (ढिल्लोन) पेओष (पियूष)

आईपीएल की शुरुआत से ही रिचर्ड आईपीएल ऑक्शन में ऑक्शनर की भूमिका निभाते आ रहे हैं। रिचर्ड की बात करें तो उन्होंने सेल्समैन से अपने करियर की शुरुआत की थी। लेकिन जल्द ही वह स्पोट्र्स, घर-प्रॉपर्टी बिकवाने वाले प्रोफेशनल ऑक्शनर भी बन गए। आईपीएल में उन्हें लाने का श्रेय ललित मोदी को जात है। जो अब आईपीएल का हिस्सा नहीं हैं।

advt
Back to top button