भारत के बाद ईरान ने पाकिस्तान को चेताया, क्यों जानें

बुधवार को ईरान के इस्फहान शहर में हुए इस आत्मघाती हमले में रिवाल्यूशनरी गार्ड्स के 27 जवानों ने जान गंवाई थी

नई दिल्ली।

पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के समूल विनाश के लिए भारत के साथ ईरान भी आ गया है. ईरान ने अपने एलीट कमांडो फोर्सेज रिवाल्यूशनरी गार्ड्स पर बुधवार को हुए हमले के लिए पाकिस्तान को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया है और कहा है कि इसके लिए पाकिस्तान को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.

बीते बुधवार को ईरान के इस्फहान शहर में हुए इस आत्मघाती हमले में रिवाल्यूशनरी गार्ड्स के 27 जवानों ने जान गंवाई थी. जबकि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए. यानी पाकिस्तान में बैठे आतंक के आकाओं की दहशतगर्दी से दोनों देशों में 67 जवान शहीद हो गए.

ईरान की पाकिस्तान को चेतावनी

ईरान के उप विदेश मंत्री सैय्यद अब्बास अरगाची ने तेहरान में भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात के बाद पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि अब पानी सिर से ऊपर जा चुका है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अपने तीन दिनों की विदेश यात्रा पर जाने के दौरान ईरान की राजधानी तेहरान में रुकी थीं.

ईरान के उप विदेश मंत्री सैय्यद अब्बास अरगाची ने ट्वीट किया, “बीते कुछ दिनों में ईरान और भारत आतंकवाद की घृणित कार्रवाई का शिकार हुए हैं.

इस हमले की वजह से दोनों देशों को भारी नुकसान हुआ है आज भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ मीटिंग में हमने इस क्षेत्र में आंतकवाद के खिलाफ सहयोग बढ़ाने का फैसला किया है, Enough is enough!.”

Back to top button