ईरानी शोधार्थी को मिली मौत की सजा

ईरान के सुप्रीम कोर्ट ने इस्राइल के लिए जासूसी करने के जुर्म में ईरानी शोधार्थी को मिली मौत की सजा पर मुहार लगा दी


ईरानी शोधार्थी को मिली मौत की सजा

ईरान के सुप्रीम कोर्ट ने इस्राइल के लिए जासूसी करने के जुर्म में ईरानी शोधार्थी को मिली मौत की सजा पर मुहार लगा दी है.

अहमद रेज़ा जलाली अप्रैल 2016 से जेल में है. इसी महीने की शुरू में वह सरकारी टीवी पर नजर आया था और इस्राइल की जासूरी एजेंसी मोसाद को सूचना मुहैया कराने का इकबाल-ए-जुर्म कर रहा था. उसने बताया था कि उसने ईरान की सेना और परमाणु वैज्ञानिकों के बारे में मोसाद को जानकारी मुहैया कराई थी. इनमें वो वैज्ञानिक भी शामिल हैं, जिनका 2010 में कत्ल कर दिया गया था.

ईरान की अर्द्ध सरकारी समाचार एजेंसी आईएसएनए ने अदालत के फैसले के बारे में रिपोर्ट जारी की. अभी यह स्पष्ट नहीं है कि सजा पर अमल कब होगा. अदालत के फैसले के खिलाफ अपील नहीं की जा सकती है.

advt
Back to top button