आईआरसीटीसी मामला : सुनवाई कल के लिए स्थगित, आलोक वर्मा ने लालू को फंसाया

वर्मा ने अस्थाना के आरोपों को गलत ठहराया

नई दिल्ली :

बहुचर्चित आईआरसीटीसी घोटाला मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई होनी थी। लेकिन इस मामले को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 20 दिसंबर तक सुनवाई को स्थगित कर दिया गया है।

उस दिन बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अदालत के समक्ष पेश होना होगा। दूसरी तरफ, आईआरसीटीसी मामले को लेकर छुट्टी पर भेजे गए सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने बड़ा खुलासा किया है।

सीवीसी को भेजी अपनी प्रतिक्रिया में उन्होंने आरोप लगाया है कि सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना, बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी और पीएमओ के एक अधिकारी ने मिलकर आरेजडी प्रमुख लालू यादव को इस मामले में फंसाया है।

वर्मा ने अस्थाना के उन आरोपों को गलत ठहराया है कि उन्होंने जानबूझकर लालू यादव के खिलाफ इस मामले को कमजोर किया था। उनका कहना था कि सीबीआई के तत्कालीन अतिरिक्त निदेशक की हैसियत से अस्थाना ने इस तथ्य को दबा दिया कि इस मामले को लेकर सीबीआई को 2013-14 में एक शिकायत भेजी गई थी जिसे जांच के बाद गलत पाया गया था।

वर्मा ने यह भी कहा कि पूरा मामला राजनीति से प्रेरित नजर आता है क्योंकि अस्थाना इस बीजेपी के वरिष्ठ नेता रहे सुशील मोदी के निरंतर संपर्क में थे। उन्होंने अपने जवाब में यह भी बताया कि पीएमओ के एक वरिष्ठ अधिकारी लगातार इस मामले की जानकारी ले रहे थे।वर्मा ने सीवीसी को आश्वस्त किया कि अगर वो चाहे तो वर्मा पीएमओ के उस अधिकारी का नाम बता सकते हैं और सीवीसी मामले से जुड़े सभी तथ्यों की तस्दीक कर सकती है।

1
Back to top button