गिरिराज सिंह का गैरजिम्मेदाराना स्तरहीन बयान – रिजवी

रायपुर : जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख एवं वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का यह बयान कि मुगलिया दौर के सभी नाम बदल दिये जाये स्तरहीन मानसिकता का परिचायक है क्योकि नाम बदलने से पहले देश के इतिहास को भी बदलना पडे़गा। मुगलिया सल्तनत इतिहास का स्थापित सत्य है जिसे बदलना असंभव है। केन्द्रीय मंत्री जैसे गरिमामय पद पर आसीन गिरिराज सिंह से ऐसी ओछी टिप्पणी की अपेक्षा नही थी। इलाहाबाद का नाम बदलकर उत्तप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अल्लाह/ईश्वर के वजूद को समाप्त करने का अर्धमी प्रयास किया है जो अक्षम्य है तथा अमानवीय अपराध की श्रेणी में आता है।

रिजवी ने कहा है कि इतिहास में ऐसे कई तुगलकी फरमान सल्तनती दौर में जारी किए गये थे जिसे बाद के सुल्तानो ने नकारते हुए रद्द कर दिया था। गिरिराज सिंह द्वारा दिया गया उन्मादी उत्तेजक एवं विस्फोट बयान देश के सौहाद्र्र्र्र्रपूर्ण वातावरण में जहर घोलने का प्रयोजित षड़यंत्र है। उत्तेजक एवं अमर्यादित बयान देने वाले नेताओ को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की खामोशी से प्रोत्साहन मिलता है। आसन्न पांच राज्यो के विधानसभा चुनावो की प्रकिया प्रारंभ हो चुकी है। ऐसे असंसदीय एवं उत्तेजक बयान आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है। भारत निर्वाचन आयोग से अपेक्षा है कि इस दिशा में तत्काल संज्ञान लेकर समुचित कार्यवाही करें।

Back to top button