बॉलीवुड

स्टार होने के लिए ऐक्टिंग आना जरूरी नहीं: इरफान खान

इरफान इस बात से काफी हद तक सहमत हैं कि आज भी ऐक्टिंग आने से ज्यादा लुक्स और पब्लिक रिलेशन ज्यादा महत्व रखता है

स्टार होने के लिए ऐक्टिंग आना जरूरी नहीं: इरफान खान

इरफान खान केवल एक अच्छे ऐक्टर ही नहीं बल्कि हॉलिवुड में इस समय बॉलिवुड का फेस भी माने जाते हैं। हालांकि बेहतरीन टैलंट और क्षमता होने के बावजूद इरफान को अभी हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में एक अंडररेटेड ऐक्टर माना जाता है। हाल में इरफान ने फिल्म प्रॉडक्शन में भी कदम रख दिया है और वह अपना पहला प्रोजेक्ट पूरा करने वाले हैं।

मीडिया से बात करते हुए इरफान ने ऐक्टिंग सीखने के महत्व पर कहा, ‘जब मैं एक ऐक्टर बनने का सपना देखता था तो मुझे पता था कि मुझे इस कला को सीखना होगा। मैंनें ऐसा कभी नहीं सोचा कि बस मुंबई आ जाओ और एक रोल पाने के लिए स्ट्रगल करना शुरू कर दो। इसलिए मुझे पता था कि कहीं भी रोल मांगने से पहले मुझे ऐक्टिंग की कला सीखनी होगी।’

इरफान इस बात से काफी हद तक सहमत हैं कि आज भी ऐक्टिंग आने से ज्यादा लुक्स और पब्लिक रिलेशन ज्यादा महत्व रखता है। उन्होंने कहा, ‘हमारे सिनेमा में कई बार ऐक्टिंग की जरूरत ही नहीं पड़ती और यह सच्चाई है। एक स्टार बनने के लिए आपको ऐक्टिंग आना जरूरी नहीं है। अगर आपका सिनेमा ऐसा हो जहां ऐक्टिंग आना जरूरी हो तो हर आदमी पहले ऐक्टिंग सीखने जाएगा।’

ऐक्टिंग की फॉर्मल ट्रेनिंग के बारे में इरफान ने कहा, ‘यह इस पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की ऐक्टिंग करना चाहते हैं। कई बार ऐक्टर्स ने कोई फॉर्मल ट्रेनिंग नहीं ली होती है लेकिन वे बेहतरीन ऐक्टिंग करते हैं। वहीं कुछ लोग फॉर्मल ट्रेनिंग लेकर आते हैं लेकिन कभी ऐक्टर नहीं बन पाते। मेरे मामले में, ट्रेनिंग ने मेरी बहुत मदद की। अगर मैं ड्रामा स्कूल में नहीं जाता तो जैसा काम मैं आज कर रहा हूं वैसा काम नहीं कर पाता।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.