क्या गौ माता के शव को ऐसे फेकना उचित है?

संबलपुरी शहरी गौठान का सच जिसे देख कर किसी के भी आंख से आंशु आ जाएंगे।

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

संबलपुरी शहरी गौठान का सच जिसे देख कर किसी के भी आंख से आंशु आ जाएंगे।

क्या गौ माता के शव को ऐसे फेकना उचित है??क्या गौ माता के शव को ऐसे फेकना उचित है?

गौठान में क्या बछड़ों के देखभाल की यही व्यवस्था है संबंधित साहब

बरसात में रहने के लिए 350 गायों के लिए इतनी जगह किस हिसाब से सही है??

12 बजे से 3:30 बजे तक जब हम संबलपुरी गौठान पहुंचे तो वहां गेट लॉक था जिसे खोलने वाला कोई नहीं

वहां के कर्मचारी देव नारायण साहू से संपर्क करने पर उनका कहना है वो छुट्टी में हैं तो कैसे लॉक खोलने आएंगे, फिर उनके द्वारा सुधांशु कुमार रथ जो वेटनरी देखते हैं उनका नंबर दिया गया तो वो अपने घर में हैं अर्थात ये हमेशा ऐसा ही होता होगा और यहीं कारण है कि यहां गायों की स्थिति ऐसी है।

आखिर ये सब का जिम्मेदार कौन????
रायगढ़ प्रशासन??

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button