सफलता के लिए लक्ष्य बनाना जरूरी : पगारिया

मैट्स विश्वविद्यालय में दो दिवसीय ओरिएंटेशन समारोह सम्पन्न

रायपुर। सफलता के लिए लक्ष्य बनाना आवश्यक है। बिना लक्ष्य के सफलता हासिल नहीं हो सकती। हमें महाविद्यालयीन जीवन में पूरी लगन व निष्ठा के साथ लक्ष्य निर्धारित कर परिश्रम करना चाहिए जिससे शिक्षा के साथ कैरियर का भी निर्माण किया जा सके। मैट्स विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

यह बातें मैट्स विश्वविद्यालय द्वारा नव-प्रवेशी छात्रों के लिए आयोजित दो दिवसीय ओरिएंटेशन समारोह में विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों एवं विषय विशेषज्ञों द्वारा कही गईं।

मैट्स विश्वविद्यालय द्वारा विभिन्न विभागों के नव-प्रवेशी विद्यार्थियों के लिए ओरिएंटेशन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मैट्स विश्वविद्यालय के कुलाधिपति गजराज पगारिया ने विद्यार्थियों से कहा कि विद्यार्थी जीवन हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण समय होता है जिसमें हम शिक्षा के साथ-साथ अपने व्यक्तित्व का विकास करते हुए कैरियर का निर्माण करते हैं। जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ा परिश्रम आवश्यक है। हमें हर परिस्थितियों एवं संघर्षों का सामना करते हुए सफलता को अपना लक्ष्य बनाना चाहिए।

पगारिया ने कहा

पगारिया ने कहा कि सभी विद्यार्थी हमारे मैट्स परिवार का हिस्सा हैं जिनके सर्वांगीण विकास के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।
इस अवसर पर कुलपति प्रो. के.पी. यादव एवं कुलसचिव गोकुलानंदा पंडा ने भी अपने विचार रखे एवं सभी नव-प्रवेशी विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएँ देते हुए उच्च शिक्षा के महत्व से अवगत कराया। कुलपति प्रो. के.पी. यादव ने उच्च शिक्षा के माध्यम से आत्मनिर्भर बनने, जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करने एवं समाज में अपनी पहचान बनाने के संबंध में अनेक महत्वपूर्ण बातों से अवगत कराया।

उन्होंने समय की महत्ता, कार्य के प्रति गंभीरता, तत्परता, लगन, निष्ठा, सांस्कृतिक मूल्य और समय के उचित प्रबंधन का महत्व बताते हुए विद्यार्थियों को कक्षाओं में 75 प्रतिशत उपस्थिति देने पर विशेष बल दिया। प्रो. यादव ने कहा कि किसी भी क्षेत्र में सफलता पाने के लिए अपने समय का सही प्रबंधन करना आवश्यक है। समय प्रबंधन कड़े परिश्रम के प्रति प्रेरित करता है। इससे उत्पादकता बढ़ती है और यह कम प्रयासों के साथ अधिक लाभ प्राप्त करने में मदद करता है।

कुलसचिव गोकुलानंदा पंडा ने छात्रों से कहा कि वे तीन साल नियमित रूप से विश्वविद्यालय आएं और नियमित अध्ययन करें तो उन्हें पढ़ाई के साथ-साथ कैरियर के लिए निर्धारित लक्ष्य में भी सफलता प्राप्त होगी। छात्र उन्मुखी समारोह में कॉमर्स, मैनेजमेंट, आईटी, साइंस, एजुकेशन, योगा, शारीरिक शिक्षा, हिन्दी, अंग्रेजी, मनोविज्ञान, समाज कार्य सहित विभिन्न विभागों के नव-प्रवेशी विद्यार्थी, विभागाध्यक्ष एवं विद्यार्थीगण उपस्थित थे। समारोह में विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्षों ने भी अपने विचार रखे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button