छत्तीसगढ़

किसी एक धर्म विशेष के लिए टिप्पणी करना सही नहीं: नेता प्रतिपक्ष

नेता प्रतिपक्ष ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष द्वारा की गई टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया दी

रायपुर: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कोरोना त्रासदी के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की निष्क्रियता और चुप्पी पर सवाल खड़े करते हुए सवाल किया था कि जनसेवा का दंभ भरने वाले खाकी पैंटधारी आरएसएस के कार्यकर्ता कहां लापता हो गए हैं।

वहीँ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की इस टिपण्णी को लेकर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त कर कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम का अध्ययन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बारे में कुछ भी नहीं है, इसलिए वह इस तरह की टिप्पणी कर रहे हैं। वे प्रदेश अध्यक्ष जैसे जिम्मेदार पद पर हैं और उन्हें कई विषयों पर अध्ययन करना चाहिए।

कौशिक ने कहा कि संघ का अपना गौरवमयी इतिहास है।संघ अपनी स्थापना का शताब्दी वर्ष पूर्ण करने जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि संघ का जुड़ाव समाज के हर वर्ग से है। इस तरह से किसी एक धर्म विशेष के लिए उनकी टिप्पणी करना सही नहीं है, जिसकी जितनी निंदा की जाये कम है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि हर विपदा काल में संघ ने देश के साथ-साथ दुनियां के कई हिस्सों में अनुकरणीय कार्य है और संघ का विस्तार देश में ही नहीं, विदेशों में भी है। संघ में बड़ी संख्या में स्वयंसेवक जुड़े हैं।

इस करोना काल में भी संघ के कार्यकर्ता असंख्य सेवा कार्य में जुटे है।ऐसे सेवाभावी संगठन के बारे में प्रदेश अध्यक्ष मरकाम को दिये गये बयान पर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए। कौशिक ने कहा कि संघ के कार्यों को लेकर उनकी जानकारी अधूरी है। वो चाहे तो उससे जुड़े साहित्य उन्हें भेज सकते हैं।

Tags
Back to top button