आयुष्मान योजना पर नही थम रहा घमासान, ये है मामला!

केंद्र सरकार की सबसे बड़ी योजना में से एक आयुष्मान भारत योजना का संचालन प्रदेश के निजी संस्थानों में नहीं हो पा रहा है।

प्रदेश के बस्तर के जांगला गांव से प्रधानमंत्री ने जिस आयुष्मान योजना की शुरुआत की, उस पर घमासान थमता दिखाई नहीं दे रहा है।

केंद्र सरकार की सबसे बड़ी योजना में से एक आयुष्मान भारत योजना का संचालन प्रदेश के निजी संस्थानों में नहीं हो पा रहा है।

वजह है भुगतान। मंगलवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) ने स्वास्थ्य आयुक्त को पत्र लिखकर आयुष्मान के तहत इलाज नहीं करने की बात कही है।

आइएमए का कहना है कि रायपुर स्थित स्टेट नोडल एजेंसी (एसएनए) उनके पुराने बकाया का भुगतान नहीं कर रही है। जब तक भुगतान नहीं मिलेगा तब तक इलाज संभव नहीं है।

स्वास्थ्य विभाग और आइएमए के बीच कोई बातचीत नहीं होगी। आइएमए ने कड़ा रूख अख्तियार करते हुए फैसला लिया है कि आइएमए में पंजीकृत जो डॉक्टर आयुष्मान में इलाज करेंगे, उनका पंजीयन आइएमए से खत्म कर दिया जाएगा।

– अब स्वास्थ्य आयुक्त से बात करने का कोई औचित्य नहीं है। वो हमारी बात सुनने को तैयार ही नहीं हैं। ऐसे में आयुष्मान के तहत इलाज कर पाना संभव नहीं है। – डॉ. राकेश गुप्ता, अध्यक्ष हॉस्पिटल संघ

1
Back to top button