राष्ट्रीय

मायावती और अखिलेश के गठबंधन को हल्के में लेना गलत: चिराग पासवान

नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा गठबंधन पर लोजपा सांसद चिराग पासवान ने कहा कि यूपी में मायावती और अखिलेश के गठबंधन को हल्के में लेना गलत होगा। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में हमें ताकत के साथ उतरना होगा। चुनावत तो है लेकिन ये भी सत्य है कि आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने वाले भ्रष्ट लोगों का यह गठबंधन है।

चिराग पासवान ने कहा कि तेजस्वी के मिलने का कोई असर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि इस गठबंधन का असर न बिहार में न ही यूपी में होगा। बिहार में नीतीश कुमार के आने के बाद एनडीए काफी मजबूत हुआ है। 35 से कम सीटें एनडीए को नही मिलेंगी।

भाजपा से कोई गठबंधन नहीं होगा

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के मुखिया शिवपाल यादव ने कहा कि हमारी पार्टी किसी भी सूरत में भाजपा से गठबंधन नहीं करेगी। हम परआरोप लगाने वालों को पता है, कौन किसके साथ है। पार्टी लोकसभा चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है। यादव रविवार को प्रदेश महिला कार्यकारिणी की पहली बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। महिलाओं की सुरक्षा पर उन्होंने कहा कि अभी तक सरकार ने कोई भी नीति नहीं बनाई है। महिलाओं व बच्चों को लेकर भाजपा सरकार पूरी तरह से संवेदनहीन है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के हक की लड़ाई को प्रसपा कमजोर नहीं पड़ने देगी। अब तक सिर्फ प्रसपा ही भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरी है।

संगठन ने राजभवन तक का घेराव किया है। यादव ने महिला प्रदेश अध्यक्ष शम्मी वोहरा का नाम लेते कहा कि इतने कम समय में इन्होंने 65 जिलों में महिलाओं का संगठन तैयार कर दिया है। आगे बहुत लड़ाई लड़नी है।

महिला प्रदेश अध्यक्ष शम्मी वोहरा ने कहा कि जो संगठन बना है उसे और मजबूत करना है। इस मौके परप्रदेश अध्यक्ष सुंदरलाल लोधी, पूर्व मंत्री शारदा प्रताप शुक्ला, वरिष्ठ नेता रिछपाल चौधरी, प्रदेश महासचिव उमा यादव, प्रमुख महासचिव सुनिता सिंह,ममता सिंह,शांति यादव समेत कई पदाधिकारियों ने अपने विचार रखे।

Summary
Review Date
Reviewed Item
मायावती और अखिलेश के गठबंधन को हल्के में लेना गलत: चिराग पासवान
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags