अंतर्राष्ट्रीय

अक्टूबर में भारत आएंगे इटली के पीएम

कई महत्वपूर्ण मसलों पर हो सकती है बात

नई दिल्ली : इटली के प्रधानमंत्री जिएसेपे कोंटे अक्टूबर के अंत में भारत दौरे पर आ रहे हैं. जुलाई में इटली में गठबंधन सरकार का मुखिया बनने के बाद यह उनकी पहली भारत यात्रा होगी.

इस दौरान भारत में 29 से 30 अक्टूबर, 2018 तक 24वें टेक्नोलॉजी समिट का आयोजन किया जाएगा, जिसका इटली भी एक पार्टनर देश है. इस समिट में शामिल होने के लिए इटली से एक बड़ा प्रतिनिधिमंडल भी आएगा.

हालांकि, इटली सरकार के सूत्रों का कहना है कि यह कोई ‘राजकीय यात्रा’ नहीं है, इसके बावजूद दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच ‘द्व‍िपक्षीय वार्ता’ होगी. इस दौरान इमिग्रेशन जैसे मसलों और कई पारस्परिक हितों वाले क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर बात हो सकती है.

अभी इटली से भारत में निवेश महज 2.5 अरब डॉलर का है जिसे बढ़ाने की काफी संभावनाएं हैं. ज्यादातर निवेश ऑटो, ट्रेडिंग, सर्विसेज और फूड प्रोसेसिंग में है. दोनों देशों के बीच रेलवे, नवीन एवं अक्षय ऊर्जा, डिजाइन, रोबोटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, क्लीन टेक्नोलॉजी, पैकेजिंग आदि में सहयोग बढ़ाया जा सकता है.

इटली के पीएम का यह दौरा दोनों देशों के रिश्तों के बीच काफी कठिन दौर बीत जाने के बाद हो रहा है. असल में इटली के नौसैनिकों की गिरफ्तारी और उनके स्वदेश जाने के बाद वापस न आने के मसले को लेकर दोनों देशों के रिश्ते काफी तल्ख हो गए थे. इसी तरह, एक रक्षा सौदे में कथित घपले को लेकर दोनों देशों के बीच खाई और बढ़ गई थी. नौसैनिकों का मसला तो अब हेग स्थ‍ित अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता अदालत तक पहुंच चुका है.

इटली के पीएम कोंटे नई दिल्ली में आयोजित टेक्नोलॉजी समिट का उद्घाटन करेंगे. इस समिट के आयोजन स्थल पर ही इटली की एक प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा.

ताजमहल की सफाई का प्रोजेक्ट : इटली के प्रतिनिधिमंडल में ऐसी कंपनी के लोग भी आ रहे हैं जो विरासत स्थलों की सफाई और संरक्षण में विशेषज्ञता रखती है. इस कंपनी की नजर दुनिया के अजूबा और भारत की शान ताजमहल की सफाई का प्रोजेक्ट हासिल करने पर है.

Tags
jindal