ये जिन्दगी है, जिन्दगी का बस यही काम है यारों

योगेश कुमार साहू मोहना
मोतीपुर राजनांदगाँव

ये जिन्दगी है.. .

ये जिन्दगी है, जिन्दगी का बस यही काम है यारों

दिखता है हर पल यहाँ.. ..
एक जीतता इंसान
एक हारता इंसान,
एक जागता इंसान
तो कहीं भागता इंसान,
एक हंसता हुआ इंसान
तो कहीं एक रोता हुआ इंसान,
संजोता है सपने बडे अरमानों से कोई
तो कहीं उन्ही अरमानों को जलाते दिखता है इंसान।।
ये जिन्दगी है, जिन्दगी का बस यही काम है यारों
दिखता है हर पल यहाँ बिकता हुआ इंसान।।
खामोशी है हर पल यहाँ
हर ओर पसरा सन्नाटा है,
दिखता है हर पल यहाँ
बस जलता हूआ एक शमशान।।
ये जिन्दगी है, जिन्दगी का बस यही काम है यारों
दिखता है हर पल यहाँ बस लडता हुआ इंसान।।

new jindal advt tree advt
Back to top button