राष्ट्रीय

J&k: ‘आतंक का डॉक्‍टर’ कहा जाने वाला हिज्‍बुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर सैफुल्‍लाह ढेर

जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के ज्वाइंट ऑपरेशन के बाद ये कामयाबी हाथ लगी है.

श्रीनगर: आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन (Hizbul Mujahideen) के टॉप कमांडर सैफुल्लाह मीर (Saifullah Mir) को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में एक एनकाउंटर के दौरान मार गिराया गया है. जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के ज्वाइंट ऑपरेशन के बाद ये कामयाबी हाथ लगी है.

कश्मीर पुलिस आईजी विजय कुमार ने बताया कि HM के टॉप कमांडर डॉ रियाज नाइकू के मारे जाने के बाद सैफुल्ला को संगठन का चीफ बनाया गया था. जिसे आज ज्वाइंट ऑपरेशन के बाद ढेर कर दिया गया है. उसके एक साथी को सेना ने जीवित पकड़ने में सफलता पाई है. पुलिस के लिए ये बहुत बड़ी कामयाबी है. उन्होंने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर पुलिस का नेटवर्क काफी मजबूत है, जो भी आएगा मारा जाएगा.

रियाज नाइकू के जितना ही खूंखार था सैफुल्लाह

सैफुल्लाह भी रियाज नाइकू जितना ही खूंखार आतंकी माना जाता था. सेना की लिस्ट में उसे भी A++ कैटेगरी में रखा गया था, लेकिन आतंकी जितना भी खूंखार हो उसका भारतीय सेना की गोली से बचना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होता है. बताते चलें कि सैफुल्लाह को आतंक का डॉक्टर भी कहते हैं, क्योंकि उसने मेडिकल की पढ़ाई की थी.

पिछले 8 साल से दक्षिण कश्मीर में था सक्रिय

जानकारी के अनुसार, सैफुल्लाह मीर जम्मू-कश्मीर में पुलवामा के पदगामपोरा का रहने वाला था. यह पैरामेडिकल की ट्रेनिंग ले चुका था. वो मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर काम भी करता था. 2012 में वो आतंक की राह पर चल निकला और आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन से जुड़ गया. पिछले 8 साल से सैफुल्लाह दक्षिण कश्मीर में सक्रिय था.

‘आतंक का डॉक्टर’ कैसे बन गया ‘संगठन का चीफ’?

सैफुल्लाह एनकाउंटर में घायल आतंकियों का इलाज करता था. और इसी बीच आतंकियों ने सैफुल्लाह का ब्रेन वॉश कर दिया, जिसके बाद उसने आतंक की वर्दी पहन ली और हाथ में AK-47 थाम ली थी. इसके बाद 2017 में जब रियाज नायकू को हिज्बुल का ऑपरेशन कमांडर बनाया गया था, उसी वक्त सैफुल्लाह को भी डिप्टी कमांडर बनाया गया था. रियाज नायकू की मौत के बाद कमांडर बनने का सबसे बड़ा दावेदार सैफुल्लाह था. इसलिए उसे चीफ बना दिया गया.

इस तरह सैफुल्लाह ने कश्मीर में कायम की अपनी दहशत

– जम्मू कश्मीर पुलिस के 18 जवानों के अपहरण का मास्टरमाइंड.
– 2018 में कश्मीर के 4 पुलिस जवानों की हत्या करवाई.
– पुलिस को सूचना देने वाले लोगों की हत्या करवाई.
– कई SPO को पुलिस की नौकरी छोड़ देने के लिए धमकी दी.
– सैफुल्लाह सैयद सलाहुद्दीन के आदेश पर ही आतंकी वारदात अंजाम देता है.

LIVE TV

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button