पाक का एक और झूठ बेनकाब, बिफरा भारत

नई दिल्ली: भारत ने शुक्रवार को एक बार फिर पाकिस्तान के एक नए झूठ को लेकर उसपर हमला बोला है।

अफगानिस्तान के NSA के बयान के हवाले से भारत ने कहा है कि कुलभूषण जाधव के बदले आतंकवादी को छोड़ने के प्रस्ताव का पाकिस्तान का दावा एक और काल्पनिक झूठ है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने दावा किया था कि एक NSA से मुलाकात के दौरान जाधव के बदले आतंकी को देने का प्रस्ताव मिला था।

आसिफ के मुताबिक अफगानिस्तान की जेल में बंद कैदी को जाधव के बदले में देने के बारे में बात हुई थी। आसिफ के इस बयान के बाद भारत की तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है।

इससे पहले अफगानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोहम्मद हनीफ अतमर ने आसिफ के दावे का खंडन करते हुए बयान जारी किया।

अफगानिस्तान के NSA ने कहा कि न्यू यॉर्क में पाकिस्तानी विदेश मंत्री के साथ 21 सितंबर को हुई मुलाकात में भारत या किसी भारतीय नागरिक का जिक्र भी नहीं हुआ था।

26 सितंबर को पाकिस्तान के विदेश मंत्री आसिफ ने न्यू यॉर्क में एशिया सोसायटी के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। अपने संबोधन में आसिफ ने वहां उपस्थित लोगों के सामने कुलभूषण के बारे में कथित प्रस्ताव का जिक्र किया था।

आसिफ ने कहा था कि कुलभूषण के बदले 2014 में पेशावर स्कूल हमले में शामिल एक आतंकी को देने का प्रस्ताव था। आसिफ ने दावा किया था कि वह आतंकी अफगानिस्तान की जेल में बंद है।

आसिफ के इस बयान पर भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से स्पष्ट और कड़ी प्रतिक्रिया सामने आई है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि अफगानिस्तान एनएसए का बयान इस ओर इशारा करता है कि आसिफ ने पाकिस्तान की तरफ से एक और झूठ बोला है।

रवीश कुमार ने हाल में ही संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की तरफ से इस्तेमाल की गई फेक तस्वीर का भी हवाला दिया।

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में गाजा की तस्वीर दिखा झूठा दावा किया था कि यह कश्मीर में पेलेट गन की मार से पीड़ित लड़की की तस्वीर है।

भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव अभी पाकिस्तान में जेल में बंद हैं। पाक ने जाधव पर भारतीय जासूस होने और कई हमलों में शामिल होने का आरोप लगाकर फांसी की सजा सुनाई है।

यह मामला इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में भी जा चुका है। 18 मई को इस मामले की सुनवाई करते हुए ICJ ने जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी।

Back to top button