स्वच्छता की ऐसी पहल सीख, सबक और नसीहत

स्वच्छ भारत अभियान के तहत कलेक्टर धनंजय देवांगन की अनूूठी पहल
मौका था पं. दीनदयाल उपाध्यक्ष जन्त शताब्दी सामारोह और स्वच्छता पखवाड़े की शुरूवात का

अनुराग शुक्ला

जगदलपुर. बस्तर कलेक्टर धनंजय देवांगन ने शुक्रवार को स्वच्छ भारत अभियान के तहत एक जागरूक नागरिक का भी परिचय दिया है। स्वच्छता पखवाड़े की शुरूवात और पं दीनदयाल शताब्दी वर्ष के तहत आयोजि कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे कलेक्टर का अलग ही रूप सामने आया। पहले तो उन्होंने वीर सावरकर भवन के आसपास की दुकानों तक खुद पहुंचे और यहां पर कलेक्टर ने पहले तो प्रशासनिक अधिकारी के लहजे में सबक दिया कि दुकानदार कचरा उचित स्थान पर फेंके।

उन्होंने तत्काल कचरे को साफ करने के लिए कहा। इसपर दुकानदार सफाई कामगार और दुकान में काम करने वालों को तलाशते रहे। इसी बीच अचानक कलेक्टर ने सभी को तब चौंका दिया जब वे खुद ही नाली के पास की गंदगी को उठाने लगे। कलेक्टर के इस कार्य को देेखकर किसी के पास कुछ कहने को नहीं था सभी स्तब्ध रह गए। अभी बात खत्म नहीं हुई थी कलेक्टर की इस पहल ने व्यापारियों को सबक दिया कि वे अपने आस पास साफ सफाई रखें और कचरे को उचित स्थान पर ही फेंकें।

कलेक्टर धनंजय देवांगन ने सीख और सबक के साथ ही नसीहत भी व्यापारियों को दी उन्होंने कचरे को हाथ में लेकर दुकानदारों से कहा कि यदि यह आप के दुकान के अंदर या फिर काउंटर के पास हो तो कैसा लगेगा। जब आप अपना दायरा और प्रतिष्ठान साफ रखते हैं तो फिर स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिजिए। आप का कचरा दूसरे की परेशानी न बनें। कलेक्टर की इस नसीहत के बाद क्या था दुकानदारों ने खुद ही अपनी दुकानों के नालियों के पास फेंके गए कचरों को उठाया और यही नही कलेक्टर की पहल पर कार्यक्रम में पहुंचे जनप्रतिनिधि व गणमान्य भी खुद को कचरा उठाने से नहीं रोक सके।

निगम में नहीं होगा अवकाश

स्वच्छता पखवाड़े की शुरूवात के साथ ही आयुक्त नगर निगम एके हलदार ने राज्य शासन के आदेश का हवाला देते फरमान जारी किया है कि दो अक्टूबर तक निगम के कर्मचारी और अधिकारी अवकाश पर नहीं होंगे। वे शासकी0य अवकाश के दिन में भी स्वच्छता पखवाड़े को सफल बनाने के लिए अपना योगदान देंगे। शनिवार हो या रविवार उन्हें पहले से जिम्मेदारियों और तय कार्य को बताया जाएगा।

advt
Back to top button