राष्ट्रीय

जय हिंद… थोड़ी देर में पीएम नरेंद्र मोदी संग देश मनाएगा आजादी का जश्न

सातवीं बार लाल किले की प्राचीर से आजादी के जश्न के बीच देश को संबोधित करेंगे.

15 August 2020: कोरोना संकट के बीच पूरे देश में आज 74वें स्वतंत्रता दिवस (15 August 2020) की धूम है. थोड़ी ही देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) लाल किले पर तिरंगा फहराएंगे. इसके बाद वह लगातार सातवीं बार लाल किले की प्राचीर से आजादी के जश्न के बीच देश को संबोधित करेंगे. कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की वजह से इस बार स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम सोशल डिस्टेंसिंग के साथ आयोजित किया जा रहा है. गृह मंत्रालय की ओर से जारी कोरोना गाइडलाइंस के कारण इस बार महज 4 हजार मेहमानों को ही आजादी के जश्न में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है, जो अब तक के लिहाज से एक-चौथाई संख्या ही है.

इन बातों पर रहेगी नजर

74वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर समग्र देश ही नहीं, दुनिया की भी निगाहें हैं. यह भाषण खासा महत्वपूर्ण साबित होने वाला है, क्योंकि देश दुनिया के समक्ष कई तरह की चुनौतियां हैं. कोरोना से भारत ही नहीं पूरी दुनिया परेशान है. इसके अलावा चीन के साथ विवाद भी चरम पर है. ऐसे में इस बार पीएम मोदी के भाषण में 7 अहम बातों पर नजर रहेगी. जानकारों का कहना है कि इस साल पीएम मोदी के भाषण में आयुष्मान योजना पार्ट-2, चीन को जवाब, जम्मू-कश्मीर पर आगे की रणनीति, कोविड से आगे की लड़ाई, मोदी सरकार के 6 सालों के कामकाज का लेखा-जोखा, बीजेपी का आगे का एजेंडा समेत पड़ोसी देशों से संबंध पर ठोस नीतियां सामने आ सकती हैं.

यह है पीएम मोदी का कार्यक्रम

सुबह 7.05 बजे पीएम मोदी सबसे पहले राजघाट पहुंचेंगे. इसके बाद सीधे लाल किला. सुबह 7.18 बजे लाल किले के लाहौरी गेट पर पहुंचने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार पीएम मोदी की अगवानी करेंगे. कार्यक्रम के मुताबिक 7.28 बजे वह ध्वजारोहण करेंगे फिर 7.30 बजे लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधन होगा. रक्षा सचिव प्रधानमंत्री से सामान्य कमान अधिकारी (जीओसी), दिल्ली क्षेत्र लेफ्टिनेंट जनरल विजय कुमार मिश्रा को रूबरू कराएंगे. जीओसी दिल्ली सलामी मंच तक के लिए प्रधानमंत्री के आगे-आगे चलेंगे, जहां अंतर-सेवा पुलिस गार्ड्स प्रधानमंत्री मोदी को सलामी देंगे. इसके बाद प्रधानमंत्री गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण करेंगे. प्रधानमंत्री के लिए गार्ड ऑफ ऑनर दस्ते में थल सेना, नौसेना, वायुसेना दिल्ली पुलिस से एक-एक अधिकारी 24 जवान शामिल होंगे. गॉर्ड ऑफ ऑनर को राष्ट्रीय ध्वज के सामने प्राचीर के नीचे तैनात किया जाएगा.

गार्ड ऑफ ऑनर लेंगे

इस साल थल सेना के समन्वय सेवा की भूमिका में होने के कारण गार्ड ऑफ ऑनर का नेतृत्व लेफ्टिनेंट कर्नल गौरव एस येवालकर करेंगे. प्रधानमंत्री के गार्ड के थल सेना दस्ते का नेतृत्व मेजर पलविंदर ग्रेवाल, नौसेना दस्ते का नेतृत्व लेफ्टिनेंट कमांडर के वी आर रेड्डी करेंगे, वहीं स्क्वाड्रन लीडर विकास कुमार वायुसेना दस्ते का अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त जितेंद्र कुमार मीणा दिल्ली पुलिस दस्ते का नेतृत्व करेंगे.

लाल किले की प्राचीर से संबोधन

गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण करने के बाद प्रधान मंत्री मोदी लाल किले की प्राचीर की ओर बढ़ेंगे, जहां उनका स्वागत रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, थल सेनाध्यक्ष जनरल एम. एम. नरवाने, नौसेना अध्‍यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह वायु सेना अध्‍यक्ष एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया करेंगे. दिल्ली क्षेत्र के जीओसी राष्ट्रीय प्रधान मंत्री को ध्वज फहराने के लिए लालकिले की प्राचीर पर बने मंच पर ले जाएंगे.

लेंगे राष्ट्रीय सलामी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराए जाने पर नेशनल गार्ड राष्ट्रीय ध्वज को ‘राष्ट्रीय सलामी’ देंगे. आर्मी ग्रेनेडियर्स रेजिमेंटल सेंटर का मिलिट्री बैंड राष्ट्रीय ध्वज फहराने ‘राष्ट्रीय सलामी’ के दौरान राष्ट्रगान बजाएगा. वर्दी में सभी सेवा कर्मी खड़े होंगे सलामी देंगे, शेष सभी लोग खड़े होकर राष्ट्रीय ध्वज को सम्मान देंगे. बैंड की कमान सूबेदार मेजर अब्दुल गनी के हाथों में होगी. मेजर श्वेता पांडे राष्ट्रीय ध्वज फहराने में प्रधानमंत्री की सहायता करेंगी. 2233 फील्ड बैटरी (सेरेमोनियल) के तोप चलाने वाले बहादुर सैनिकों द्वारा 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा फहराया जाएगा. सेरेमोनियल बैटरी की कमान लेफ्टिनेंट कर्नल जितेंद्र सिंह मेहता गन पोजिशन ऑफिसर नायब सूबेदार (एआईजी) अनिल चंद के पास होगी.

ये देंगे सलामी

सेना, नौसेना, वायु सेना दिल्ली पुलिस प्रत्येक से एक ऑफिसर 32 पुरुषों वाला राष्ट्रीय ध्वज गार्ड प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय ध्वज फहराने के दौरान राष्ट्रीय सलामी पेश करेगा. सेना के मेजर सूर्य प्रकाश इस इंटर-सर्विसेज गार्ड पुलिस गार्ड की कमान संभालेंगे. राष्ट्रीय ध्वज गार्ड के लिए नौसेना दल की कमान लेफ्टिनेंट कमांडर विवेक टिंग्लू, वायु सेना दल की कमान स्क्वॉड्रन लीडर मयंक अभिषेक दिल्ली पुलिस दल की कमान अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त श्री सुधांशु धामा संभालेंगे. राष्ट्रीय ध्वज गार्ड के लिए सैन्य दल को फर्स्ट गोरखा राइफल्स की 5वीं बटालियन से लिया गया है. राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री का भाषण समाप्त होने के बाद राष्ट्रीय कैडेट कोर के कैडेट राष्ट्रगान गाएंगे. राष्ट्रीय उत्साह के इस त्यौहार में विभिन्न स्कूलों के 500 एनसीसी कैडेट्स (सेना, नौसेना वायु सेना) हिस्सा लेंगे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button