छत्तीसगढ़

21 दिव्यांगों को मिले जयपुर पैर तो खिले चहरे

रायपुर । 20 दिव्यांग भाईयों के चेहरे खुशी से चमक उठे जब दीपावली पर्व के पूर्व उन्हें 21 जयपुर पैर देकर उनके जीवन को गतिशील किया गया। 18 वर्षीय विफल पलीहा (ग्राम-गवना, जिला-सूरजपुर) की आंखें छलक उठी जब उसने घुटने के ऊपर का जयपुर पैर लगाकर बिना किसी सहारे के चलने लगा। विफल पलीहा कक्षा 12वीं का छात्र है और कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी की वजह से उसे एक पैर गंवाना पड़ा। विनय मित्र मण्डल के भगवान महावीर सेवा सदन के प्रांगण में महावीर इंटरनेशनल “त्रिशला की ओर से इन्द्र कुमार कोचर परिवार झांसी उत्तर प्रदेश की सौजन्यता से 20 दिव्यांगों को जयपुर पैर बांटे गए। कार्यक्रम में राजश्री श्रीश्रीमाल, जयश्री पुगलिया, इंदरचंद धाड़ीवाल, देवीचंद श्रीश्रीमाल, रमेशचंद कोठारी, अशोक गोलू अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत भगवान महावीर की तस्वीर पर दीप प्रज्जवलित और प्रार्थना का पठन कर किया गया।
अतिथियों ने सभा को सम्बोधित करते हुए सभी से व्यसन मुक्त जीवन यापन के लिए आव्हान किया साथ ही जीवन में परोपकार को भी प्रमुखता देने की बात कहीं। कार्यक्रम में महावीर इंटरनेशनल “त्रिशला की कुसुम श्रीश्रीमाल, निशा बोथरा, एकता जैन, लीला श्रीश्रीमाल, शर्मिला मूणोत, सुरेखा काला, रंजना श्रीश्रीमाल, दक्षा कोठारी, राजश्री श्रीश्रीमाल, जयश्री पुगलिया, मंडल के पूर्व अध्यक्ष खेमराज बैद, कुशल कारीगर अब्दुल वहीद कुरैशी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन कुसुम श्रीश्रीमाल ने किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *