क्राइमराष्ट्रीय

कश्मीर में पाकिस्तानी स्नाइपर, खुफिया एजेंसियों ने किया सतर्क

जैश आतंकियों के स्नाइपर हमले से सुरक्षा बलों की बढ़ी चिंता

श्रीनगर

कश्मीर घाटी में सुरक्षा एजेंसियों के लिए जैश-ए-मोहम्मद आतंकियों का स्नाइपर हमला एक नई तरह की चुनौती और चिंता के रूप में उभरा है। मध्य सितंबर से लेकर अबतक 3 जवान स्नाइपर अटैक में शहीद हो चुके हैं।

अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान-आधारित आतंकी संगठनों के इस तरह के हमलों को नाकाम करने के लिए लॉ एन्फोर्समेंट एजेंसियों को अपनी रणनीति नए सिरे से बनानी पड़ रही है।

बता दें कि स्नाइपर हमला वह हमला होता है जब दूर से किसी गुप्त स्थान पर छिपकर कोई निशानेबाज बंदूकधारी अचानक टारगेट पर हमला करता है। अधिकारियों के मुताबिक भविष्य में सुरक्षा बलों पर इस तरह के और हमलों की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।

स्नाइपर हमलों को लेकर सेना, सीआरपीएफ, जम्मू-कश्मीर पुलिस समेत सुरक्षा बलों ने कैंपों में रह रहे अपने जवानों और अधिकारियों के लिए खास दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

पहला स्नाइपर हमला 18 सितंबर को हुआ

इस तरह का पहला हमला इस साल 18 सितंबर को पुलवामा के नेवा में हुआ, जिसमें सीआरपीएफ का एक जवान जख्मी हुआ था। उसके बाद इस तरह के कई हमले हुए। अधिकारियों ने बताया कि हाल ही में त्राल में एक स्नाइपर अटैक में सशस्त्र सीमा बल और सेना के एक-एक जवान शहीद हुए। नौगाम में भी ऐसे हमले में सीआईएसएफ का एक जवान शहीद हो गया।
<strong>

घाटी में सक्रिय हैं जैश के 2-2 स्नाइपरों वाले 2 ग्रुप

खुफिया इनपुट्स के आधार पर सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि सितंबर में जैश-ए-मोहम्मद के स्नाइपरों के 2 ग्रुप कश्मीर घाटी में दाखिल हुए। दोनों ग्रुपों में 2-2 स्नाइपर शामिल हैं। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक इन स्नाइपरों को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के कुछ ओवरग्राउंड समर्थकों ने पनाह दी।

अमेरिकी सेना द्वारा प्रयोग में लाई जानेवाली एम-4 कार्बाइन्स

अधिकारियों के मुताबिक इन आतंकियों को पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई से कश्मीर घाटी में स्नाइपर अटैक को अंजाम देने के लिए पूरी तरह से प्रशिक्षण मिला हुआ है। ये उच्च प्रशिक्षित आतंकी M-4 कार्बाइन्स से लैस हैं, जिनका इस्तेमाल अमेरिका की अगुआई वाली गठबंधन सेना अफगानिस्तान में करती है। इस हथियार का इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना की स्पेशल फोर्स भी करती है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
कश्मीर में पाकिस्तानी स्नाइपर, खुफिया एजेंसियों ने किया सतर्क
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt