बालाकोट में जैश के आतंकी और ट्रेनर हुए ढेर : विदेश सचिव

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना द्वारा नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार कर आतंकी कैंप को ध्वस्त करने के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि 14 फरवरी को जैश ए मोहम्मद ने सीआरपीएफ पर फिदायीन हमला किया था.

हमें सूचना मिली कि वे देश में और फिदायीन हमले कर सकते हैं. इसके बाद भारत ने बालाकोट में जैश के कैंप पर कार्रवाई की. जिसमें जैश के आतंकी और ट्रेनर ढेर हुए हैं. जैश कमांडर युसूफ अजहर भी मारा गया, वही यह कैंप चल रहा था. उन्होंने कहा कि भारत सरकार आतंकवाद से लड़ने के लिए दृढ़संकल्प है.

सूत्रों की मानें तो भारतीय वायुसेना के इस बड़े ऑपरेशन में 19 मिनट का समय लगा. भारतीय वायुसेना ने सोमवार की देर रात करीब 3.30 मिनट बजे 12 मिराज फाइटर जेट के साथ हमला किया और तीन आतंकी कैंपों को निशाना बनाया.

भारतीय वायुसेना ने बालाकोट, चकोट और मुजफ्फराबाद मिलाकर कुल तीन हमले किए. बताया यह भी जा रहा है कि जैश, लश्कर और हिज्बुल के आतंकी कैंप भी इसमें शामिल थे, जिसे भारतीय वायुसेना ने नस्तोनाबूद कर दिया.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, भारतीय वायुसेना के इस हमले में आतंकी कैंप पूरी तरह से तबाह हो गए हैं. भारत ने करीब 19 मिनट तक कार्रवाई कर पुलवामा आतंकी हमले का बदला ले लिया. इस हमले में करीब 1000 किलो बम का इस्तेमाल किया गया.

Back to top button