बड़ी खबरराष्ट्रीय

जम्मू-कश्मीर पुलिस के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकी गिरफ्तार

“हमने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है, इनमें से एक सरकारी अध्यापक, एक दुकानदार और एक लेबर है. ये लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हैं, इनका हैंडलर मोहम्मद कासिम है. ये 5 साल से मोहम्मद कासिम के संपर्क में थे.”

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस ने सोमवार को लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है जो ISI हैंडलर कासिम के संपर्क में थे. ये जानकारी SSP रियासी जम्मू-कश्मीर रश्मि वज़ीर ने दी. उन्होंने कहा, “हमने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है, इनमें से एक सरकारी अध्यापक, एक दुकानदार और एक लेबर है. ये लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हैं, इनका हैंडलर मोहम्मद कासिम है. ये 5 साल से मोहम्मद कासिम के संपर्क में थे.”

उन्होंने कहा, “कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा की फिर से बहाली की योजना को विफल कर दिया गया और उसके 3 आतंकवादी गिरफ्तार कर लिए गए हैं. वे आईएसआई के हैंडलर मोहम्मद कासिम के संपर्क में थे, जिसने 18 साल पहले घुसपैठ की थी. इस मामले में एक प्राथमिकी दर्ज की गई और एक एसआईटी का गठन किया गया.”

उन्होंने आगे कहा कि गिरफ्तार लोगों में एक सरकारी कर्मचारी, मजदूर और दुकानदार शामिल है. उनके कुछ बैक खातों को सत्यापित किया है जिलमें कुछ बेनामी लेनदेन का पता चला है. इस मामले में कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया जाएगा. वे पूर्व आतंकवादियों के परिवार के सदस्यों को लुभाने की कोशिश कर रहे थे.

पुलिस अधिकारी रश्मि ने बताया, “आईएसआई हैंडलर इन लोगों को घुसपैठ के मामलों में गाइड और लॉजिस्टिक सपोर्ट के रूप में इस्तेमाल करना चाहता था. इस मामले में लगभग 11 संदिग्ध हैं, जिनमें जम्मू की एक महिला भी शामिल है, जिसने पाकिस्तान में आईएसआई के हैंडलर कासिम से मिलने और उससे पैसे लेने की बात स्वीकार करती है.”

बता दें कि सोमवार को श्रीनगर में हुए आतंकी हमले में छह लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए. बताया जा रहा है कि बारामूला इलाके में आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया था. पुलिस सूत्रों के मुताबिक आजादगंज और बारामूला इलाके में आतंकियों ने सेना के जवानों को निशाना बनाया था. फिलहाल घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. इलाके को सील कर दिया गया है और जांच की जा रही है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button