अपने ही पूर्व कमांडर मूसा के पीछे पड़ा हिज़बुल

श्रीनगर: इन दिनों जम्मू-कश्मीर के शोपियां की गलियां आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के पोस्टर्स से पटी पड़ी हैं।

इन पोस्टर्स में हिज़बुल ने अपने पूर्व कमांडर जाकिर मूसा के खिलाफ खूब जहर उगला है।

इसमें लिखा है कि जाकिर मूसा ‘कश्मीरियों की हत्या में भारतीय फौज की मदद’ कर रहा है।

इसमें लोगों को उकसाते हुए कहा गया है कि यह ‘भारतीय एजेंट (जाकिर मूसा) जहां भी मिले, पकड़कर मार डालो।’

ये पोस्टर्स उर्दू में लिखे गए हैं और इन पर मूसा की तस्वीरें प्रमुखता से दिखाई गई हैं।

इसमें दावा किया गया है, ‘भारतीय सेना से बड़ी रकम लेकर मूसा निर्दोष कश्मीरियों की हत्या करवा रहा है।

 

[amazon_link asins=’B0759D6G6H,B01J22KFRY,B075HHWGR1,B075HHK5Q4′ template=’ProductGrid’ store=’clipper28-21′ marketplace=’IN’ link_id=’cada8473-9c29-11e7-ac14-79b670afaeb7′]

 

यह ‘विश्वासघाती’ सरकारी मदद से खुद के लिए खूब को अमीर बना रहा है। शुरुआत में वह हिज़बुल का हिस्सा था और अब उसने भारत सरकार से हाथ मिला लिया है।

ऐसे में आपको वह जहां भी मिले, उसे खत्म कर दो।’ गौरतलब है कि 23 वर्षीय जाकिर राशिद बट उर्फ जाकिर मूसा ने कुछ महीने पहले ही हिज़बुल मुजाहिदीन का साथ छोड़कर ‘गजवा-ए-हिंद’ (अल-कायदा का आतंकी सेल) से हाथ मिला लिया था।

वह खुद को इस संगठन का चीफ होने का दावा करता है। मूसा ने हिज़बुल का साथ छोड़ते हुए कहा था कि अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ्रेंस कश्मीर में ‘सियासी समस्या’ बताकर ‘आम लोगों को फांसी’ पर चढ़वा रहा है।

इसी साल जुलाई में आतंकी संगठन अल कायदा के प्रॉपेगैंडा चैनल ‘ग्लोबल इस्लामिक मीडिया फ्रंट’ ने ऐलान किया था कि कश्मीर स्थित उसके ‘गजवा-ए-हिंद’ संगठन का जाकिर मूसा चीफ होगा।

इसमें कहा गया था, ‘बुरहान वानी की शहादत के बाद अब कश्मीर में जिहाद नए चरण में पहुंच गया है।

कश्मीर को मुस्लिम मुल्क बनाने के लिए जिहाद का झंडा फहराना ही होगा। इस आंदोलन को नया रूप देने के लिए जाकिर मूसा को इसकी कमान सौंपी गई है।’

बकरीद से ठीक पहले भी जाकिर मूसा ने 10 मिनट की ऑडियो रिकॉर्डिंग जारी कर कहा था कि वह जल्द ही भारत को ‘गोपूजक’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हिंदुओं से ‘आजाद’ कराएगा।

मूसा ने धमकी भरे लहजे में कहा था, ‘गोपूजक नरेंद्र मोदी राजनीति और कूटनीति के जरिए कई लोगों को जमा कर सकते हैं, लेकिन वह हमें नहीं रोक पाएंगे। हमलोग भारत में इस्लामी झंडा फहराकर ही दम लेंगे।’

 

 

Back to top button