अन्यराज्य

जम्मू कश्मीर -सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया,गुरेज सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश

श्रीनगर: सेना ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन आतंकियों को मार गिराया है. जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर में गुरुवार को भारतीय सेना ने आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी.शुरुआती खबरों के अनुसार, आतंकियों के साथ सेना का ऑपरेशन अभी जारी है.

रक्षा प्रवक्ता के अनुसार सेना के जवानों ने नियंत्रण रेखा के पास संदिग्ध गतिविधि देखी. जवानों ने घुसपैठियों को ललकारा, जिसके बाद उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी. इसमें तीन आतंकी मारे गए हैं.

उन्होंने बताया कि अभी और आतंकियों की तलाश जारी है.इससे पहले सेना ने 23 जुलाई की सुबह उत्तर कश्मीर के पुलवामा जिले में स्थित माछिल सेक्टर में आतंकियों की घुसपैठ को नाकाम कर दिया था. सेना को इस दौरान एक आतंकी को मारने में भी सफलता मिली थी.

पिछले 6 महीने में जम्मू कश्मीर में 100 से अधिक आतंकी मारे जा चुके हैं. गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से सीमा पर तनाव का माहौल बना हुआ है. पाकिस्तान रह रहकर सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है.

भारतीय सेना भी इसका मुंहतोड़ जवाब दे रही है. 21 जुलाई को ही जम्मू के सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तान की गोलाबारी में राइफलमैन जयद्रथ सिंह शहीद हो गए थे.

पिछले 10 दिन के अंदर जम्मू कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में सेना के 6 जवान शहीद हो चुके हैं. जयद्रथ से पहले 19 जुलाई को जम्मू के राजौरी सेक्टर में शशि कुमार पाक फायरिंग में शहीद हो गए थे.

वह हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर के रहने वाले थे. इससे एक दिन पहले भी भारत ने अपने एक लाल को खो दिया था. जम्मू के नौशेरा सेक्टर में पंजाब के मोगा के रहने वाले जसप्रीत पाक गोलीबारी में शहीद हो गए थे.

इसी दिन कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में विमल सिंजाली शहीद हो गए थे. विमल नेपाल के रहने वाले थे. वहीं 17 जुलाई को पुलवामा के रहने वाले थे.

मुदस्सरअहमद जम्मू के राजौरी सेक्टर में पाक गोलाबारी का निशाना बने थे.

इससे पहले 15 जुलाई को जम्मू के राजौरी सेक्टर में पुंछ के रहने वाले मुहम्मद नसीर शहीद हो चुके हैं

Tags
Back to top button