छत्तीसगढ़

जश्ने ईद मिलादुन्नबी की खुशियों डूबा रहा शहर,दुल्हन की तरह की गई सजावट,निकली भव्य जुलूस

हजरत मोहम्मद पैगम्बर के जन्मदिवस को मुस्लिम समाज के बन्धुओ ने ईद मिलादुन्नबी के रूप में पूरे जश्न के साथ मनाया।

Rajshekhar Nair/Shorypath

हजरत मोहम्मद पैगम्बर के जन्मदिवस को मुस्लिम समाज के बन्धुओ ने ईद मिलादुन्नबी के रूप में पूरे जश्न के साथ मनाया।इस अवसर पर जहां एक ओर सामाजिक जनों ने पैगम्बर को याद कर विशाल जुलूस निकाला वही पूरे नगर को दुल्हन की तरह सजा कर एक दूसरे को बधाई दी।

सुबह नूरी मस्जिद से एक विशाल जुलूस निकली जो शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए बस स्टैंड,तहसील कार्यालय के सामने से होते हुए वापस मस्जिद पर पहुँची।जुलूस में एक ओर सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा जा रहा था वहीं कौमी एकता के नारों से सारा गगन गुंजायमान हो रहा था।

मस्जिद में परचम पोसाई शाही इमाम मो असलम के हाथों की गई व अमन व चैन की दुआ मांगी गई।पूरे विश्व मे कोरोना की महामारी जल्द समाप्त हो इसके लिए दुआ मांगी गई।

इसके बाद बच्चो को इनाम वितरण का प्रोग्राम रखा गया जहां परीक्षा में 11 से 18 वर्ष में प्रथम आने वाले सबीहा फिरदौस,द्वितीय आयेशा परवीन व तृतीय शोएब रजा व 3 से 10 वर्ष में प्रथम अयान खान,द्वितीय जरीन शेख,तृतीय तहसीन खान को पुरुष्कार से नवाजा गया इसके अलावा सभी प्रतियोगियों को सांत्वना पुरुष्कार से नवाजा गया। विगत तीन दिनों से विभिन्न कार्यक्रमो का आयोजन मस्जिद में होता रहा और आज ईद की खुशियां पूरे नगरी नगर में बिखर रही थी।

कौमी एकता की मिशाल पेश की युवाओं व सामाजिक जनों ने

ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर कौमी एकता की मिशाल देखते ही बनते थी।बजरंग चौक में स्थित बजरंग मंदिर को भी मुस्लिम समाज के द्वारा प्रकाश झालरों से सजा कर धार्मिक एकता का परिचय दिया वही पूरे नगर की आकर्षक सजावट देखते ही बनती थी।जुलूस में भी धर्मिक एकता के नारे लोगो को आकर्षित कर रहे थे

मो इमरान खान,सर्फ़राजुद्दीन रिजवी,शेख सलीम, फरीद खान,वहीद खान,जमीर अली,सलीम मेमन,फारुख लोहानी,अब्दुल रब,हनीफ मेमन,अब्दुल जब्बार, असलम खिलची,इदरीश मेमन,हाजी अब्दुल वाहब, हाजी अब्दुल जब्बार,हासम मेमन,आसिफ खान,शेख इमरान,निसार अहमद,अनवर रजा,अहमद रजा गुड्डू,हाफिज मंजूर आलम,इस्माइल भाई, हाजी असलम,नासिर अहमद,कलीम भाई,साबिर भाई,हाजी वहजुद्दीन, इरशाद खान,एस बी मिर्जा,सहित बड़ी संख्या में सामाजिक जन मौजूद थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button