बेटे के पहले जन्मदिन पर शहीद की होगी अंत्येष्टि

पाकिस्तानी बॉर्डर ऐक्शन टीम (BAT) के आतंकियों के हमले में गुरुवार को शहीद हुए नायक संदीप जाधव का पार्थिव शरीर आज महाराष्ट्र के औरंगाबाद स्थित उनके पैतृक गांव लाया गया। आज ही उनके बेटे का पहला जन्मदिन है और दुखद संयोग देखिये कि बेटे के पहले जन्मदिन पर ही उनकी अंत्येष्टि होगी। पुंछ में 22 जून को BAT आतंकियों के हमले में जाधव और कोल्हापुर के रहने वाले सावन माने शहीद हुए थे। माने इस साल दिवाली से पहले शादी की योजना बना रहे थे।

संदीप जाधव अपने परिवार के सबसे छोटे सदस्य शिवेंद्र के पहले जन्मदिन को धूमधाम से मनाने की तैयारी कर रहे थे। 34 साल के जाधव ने वादा किया था कि वह बेटे के जन्मदिन को मनाने के लिए घर आएंगे, लेकिन वह नहीं बल्कि उनका पार्थिव शरीर घर आया। जाधव की एक 3 साल की बेटी मोहिनी भी है।

शहीद संदीप जाधव के चचरे भाई संतोष जाधव ने बताया कि उनके भाई अप्रैल में घर आए थे। उन्होंने शुक्रवार को हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘हमने उनके बेटे के पहले जन्मदिन समेत कई मुद्दों पर चर्चा की थी और वह बहुत रोमांचित थे। मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहा कि वह अब नहीं रहे। उनके दोनों बच्चे बहुत छोटे हैं। वह तो यह भी नहीं समझ पा रहे हैं कि क्या हुआ है। परिवार और गांव के लिए यह बहुत बड़ी क्षति है।’

दूसरी तरफ, कोल्हापुर जिले के गोगावे गांव में भी मातम का माहौल है। सावन माने की शहादत की खबर से उनका परिवार और गांव सदमे में है। माने ने मार्च 2013 में आर्मी जॉइन की थी। उनके एक रिश्तेदार ने बताया कि कहां तो वे उनकी शादी में शामिल होने की उम्मीद कर रहे थे, कहां अब अब उनके अंतिम संस्कार में शामिल होना पड़ रहा है।

Back to top button