जवानों ने बाढ़ में फंसी तीन महिलाओं को अपनी जान पर खेलकर बचाया

राहत टीम भी पहुंची और फिर इन तीनों महिलाओं को बचाया गया

कठुआ:जम्मू कश्मीर के कठुआ में अचानक सूखी नदी में बाढ़ आने से तीन महिलाओं की जान आफत में पड़ गई. महिलाएं लकड़ी चुनने नदी के पार गईं थीं. इस दौरान अचानक नदी में पानी का तूफान आ गया. कठुआ के उज्ज नदी में रेस्क्यू ऑपरेशन कर इन महिलाओं को बचाया गया.

मामला कठुआ जिले के छब्बे चक गांव का है. लड़की चुनने आईं महिलाएं उस वक्त मुसीबत में फंस गईं जब नदी में फ्लैश फ्लड की वजह से पानी का तूफान आ गया. नदी के उस पार फंसी महिलाओं की बात किसी तरह गांव वालों को पता चली जिसके बाद पुलिस का बुलाया गया, राहत टीम भी पहुंची और फिर इन तीनों महिलाओं को बचाया गया.

पुलिस की तरफ से जारी बयान में बताया गया कि चार जुलाई की रात को उन्हें सूचना मिली कुछ महिलाएं बाढ़ के चलते उज्ज नदी के पार फंसी हुई हैं. सूचना मिलने के बाद राजबाग पुलिस स्टेशन की टीम इंस्पेक्टर भूपिंदर सिंह के नेतृत्व में पुलिस की टीम महिलाओं को बचाने के लिए रवाना हुई.

एसएसपी कठुआ आरसी कोटवाल के निर्देश पर पुलिस के साथ एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची. बचाई गई महिलाओं में 45 वर्षीय शकुंतला देवी, 18 वर्षीय शालू और अंजू बाला हैं. कठुआ पुलिस की इस बहादुरी भरे काम की हर कोई तारीफ कर रहा है. पुलिस ने घंटों चले इस रेस्क्यू ऑपरेशन में एक एक कर महिलाओं को नदी से बाहर निकाल लिया. काफी मशक्कत के बाद महिलाओं को बचा लिया गया.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button