जद (यू) , भाजपा और लोजपा ही होंगे चुनाव में एनडीए के मुख्य दल

चुनाव को लेकर विभिन्न दलों के नेताओं ने अपनी तैयारियां शुरू की

पटना:बिहार में कोरोना संकट की रफ्तार तेज हो गई है। बुधवार को 24 घंटे में अब तक के रिकॉर्ड नए मरीज मिले हैं। केवल बुधवार को 749 नए मरीज मिले हैं, जिसमें केवल पटना के 235 मरीज शामिल हैं। बिहार में मरीजों का आंकड़ा 13 हजार से पार करते हुए 13274 पर संख्‍या पहुंच गई है। हालांकि 9338 मरीज कोरोना को मात देते हुए घर लौट गए हैं।

वहीँ बिहार के आगामी विधानसभा चुनाव की बात करें तो एनडीए के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर लोकसभा चुनाव वाला फार्मूला लागू होने की संभावना नहीं है। नए माहौल और विधानसभा चुनाव की अलग रणनीति को देखते हुए घटक दल नए सिरे से रणनीति तय करेंगे।

अभी औपचारिक बैठक तय नहीं

एनडीए के घटक दलों के बीच अभी औपचारिक बैठक तय नहीं है, लेकिन संभावित सीटों को लेकर घटक दल एक-दूसरे का मन टटोल रहे हैं। चुनाव में एनडीए के मुख्य दल- जद (यू) , भाजपा और लोजपा ही होंगे। लेकिन अगर कोई और दल साथ आना चाहे तो उसे भी समायोजित किया जा सकता है।

इस बीच चुनाव को लेकर विभिन्न दलों के नेताओं ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। भाजपा ने भी वर्चुअल बैठकों के जरिए अपने कैडर को सक्रिय किया है और अब मंडल स्तर पर चुनावी रणनीति बननी शुरू हो गई है।

भाजपा के प्रदेश प्रभारी भूपेंद्र यादव लगातार प्रदेश नेतृत्व के साथ चुनावी रणनीति बनाने में जुटे हुए हैं। हालांकि सीटों का बंटवारा अभी होना बाकी है, लेकिन पार्टी सभी क्षेत्रों में अपनी तैयारी कर रही है।

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा की लोकसभा और विधानसभा चुनाव अलग-अलग हैं। ऐसे में सीटों का बंटवारा लोकसभा चुनाव के माहौल और रणनीति के आधार पर नहीं हो सकता है। हालांकि मोटे तौर पर जद (यू) को ज्यादा सीटें मिलने की संभावना है। इस नेता का कहना है कि सीटों की संख्या और सीटों का चयन- दोनों को लेकर जब सभी नेता साथ बैठेंगे तो तय कर लिया जाएगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button