राहुल गांधी से नहीं मिले गुजरात के दलित नेता जिग्नेश मेवानी, मुलाकात से पहले रखी शर्त

गुजरात में दलितों के युवा नेता जिग्नेश मेवानी ने और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी नहीं हुई है.

जिग्नेश अपने फेसबुक वाल पर लिखते हुए जानकारी दी है कि कोई भी मुलाकात चोरी छिपे नहीं होगी. इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस से दलितों के मुद्दे पर अपना रुख साफ करने के लिए कहा है.

उनकी इस बात का यही मतलब निकाला जा रहा है कि हार्दिक पटेल की तरह उन्होंने भी राहुल गांधी से मिलने से पहले शर्त रख दी है.

गौरतलब है कि राहुल और जिग्नेश की यह मुलाकात काफी अहम मानी जा रही थी. गुजरात में 7 फीसदी दलित हैं और हाल ही में दलितों के साथ हुई घटना के बाद से दलित समुदाय में काफी नाराजगी है. कांग्रेस इस गुस्से को विधानसभा चुनाव में भुनाना चाहती है.

इससे पहले दलित-ओबीसी एकता मंच के नेता अल्पेश ठाकोर कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं. हालांकि पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के साथ समझौता अटक गया है.

दरअसल कांग्रेस के सामने दिक्कत यह है कि हार्दिक पटेल जहां पाटीदारों के लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं तो दूसरी ओर अल्पेश ठाकोर ओबीसी में आरक्षण में किसी भी तरह के बदलाव का विरोध कर रहे हैं.

गौर करने वाली बात यह है कि हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकोर की राजनीति एक दूसरे के विरोध से ही शुरू हुई है.

वहीं हार्दिक पटेल अल्टीमेटम दे रहे हैं कि कांग्रेस अगर जल्द ही पाटीदारों के लिए आरक्षण के लिए कोई रोडमैप नहीं लाती है तो वह गुजरात में राहुल गांधी का भी विरोध शुरू कर देंगे.

1
Back to top button