जिले की मांग को लेकर अधिवक्ता संघ ने की हड़ताल

गौरेला से मरवाही तक निकाली बाइक रैली

बालकृष्ण अग्रवाल

पेंड्रा। पेंड्रा जिला बनाओ की मांग को लेकर पेंड्रा गौरेला मरवाही अधिवक्ता संघ ने आज हड़ताल की और गौरेला से मरवाही तक बाइक रैली निकाली पेंड्रा ने काकी पेंड्रा गौरेला मरवाही और पसान को मिलाकर प्रदेश सरकार जल्द ही जिला घोषित करें जिसके लिए अधिवक्ता संघ पेंड्रा ने 1 दिन की संकेतिक हड़ताल की और बाइक रैली निकाली।

उन्होंने बताया कि उन्होंने बताया कि तत्कालीन मध्य प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष क्षेत्रीय विधायक पंडित राजेंद्र प्रसाद शुक्ला के प्रयास से 30 जुलाई 1998 में पेंड्रा रोड को जिला बनाने की अधिसूचना का प्रकाशन राजपत्र में किया गया था उस समय कुछ तकनीकी औपचारिकताओं के कारण मध्य प्रदेश सरकार रहते हुए जिला घोषित नहीं हो पाया तत्पश्चात सन 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण हुआ।

उसके बाद 16 नए जिलों की घोषणा की गई उसी समय सबसे पहले पेंड्रा रोड को जिला घोषित किया जाना था परंतु राजनैतिक खिंचा तान के चक्कर में आज तक यह क्षेत्र उपेक्षा का शिकार रहा है जबकि क्षेत्र अनुसूचित क्षेत्र शासन द्वारा घोषित है वर्तमान जिला मुख्यालय बिलासपुर से 135 किलोमीटर तथा क्षेत्र के अंतिम गांव की दूरी लगभग ढाई सौ किलोमीटर है।

यहां पर जिला बनाए जाने हेतु संपूर्ण सुविधाएं हैं तथा धार्मिक स्थल अमरकंटक एवं अनुसूचित जनजाति विश्वविद्यालय जाने हेतु एकमात्र रेलवे स्टेशन है यहां पर अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय अख्तर वन विभाग सिंचाई विभाग पीएचई विभाग अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लोक निर्माण विभाग के संभाग कार्यालय उपलब्ध हैं।

जिसे तत्कालिक रूप से जिला घोषित किए जाने पर शासन पर कोई भी अतिरिक्त भार नहीं पड़ेगा साथ औद्योगिक केंद्र अंजनी में सैकड़ों एकड़ शासकीय जमीन नव निर्माण हेतु उपलब्ध है यह क्षेत्र पूर्णता अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग बाबुल है जो सतपुड़ा एवं विंध्याचल पर्वत श्रृंखला से वनाच्छादित क्षेत्र है यहां के आदिवासी की प्रमुख आय का मुख्य स्रोत वनोपज है इस क्षेत्र में चिकित्सा सुविधा भी नहीं के बराबर है।

इस क्षेत्र के जिला बनने के बाद क्षेत्र का विकास हर परिस्थितियों में संभव है जिले को लेकर यह बहुत पुरानी मांग रहे अधिवक्ता संघ अध्यक्ष ने बताया कि अगर जिला नहीं बना तो क्षेत्र की जनता उग्र आंदोलन धरना प्रदर्शन एवं न्यायालय कार्यवाही का बहिष्कार करने हेतु बाध्य होगी उपयुक्त विभिन्न मांगों को लेकर अधिवक्ता संघ द्वारा आज शांतिपूर्ण आंदोलन किया गया एवं माननीय मुख्यमंत्री महोदय के नाम अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया।

ताल में अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष अतुल कुमार तिवारी उपाध्यक्ष रमेश कुमार शर्मा सचिव शैलेंद्र कुमार सह सचिव विनय कुमार जैन कोषाध्यक्ष अजय गुप्ता अतुल खुर्शीद राय अधिवक्ता अनिल कुमार अग्रवाल महेश तिवारी अयोध्या पटेल दीपक सोनी निवेदिता गुप्ता के साथ साथ पूरे अधिवक्ता गण मौजूद थे।

Back to top button