छत्तीसगढ़

केरल सरकार के आदेश का JCCJ ने किया स्वागत

रायपुर : राष्ट्रीय अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग की सिफारिश के आधार पर केरल सरकार की ओर से सभी सरकारी पब्लिकेशन और प्रचार-प्रसार सामग्री में दलित, हरिजन शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगाया गया है। इस रोक के आदेश जारी करने का जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रांतीय प्रवक्ता डा. उदय रात्रे ने स्वागत किया। इस संबंध में उन्होंने आगे कहा है कि, अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए राष्ट्रीय अनुसूचित जाति-जनजाति आयोग की सिफारिश को केरल सरकार ने अमलीजामा पहनाया है।
उन्होंने कहा कि, जिस प्रकार केरल सरकार ने अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों की भावनाओं का सम्मान किया है, उसी तरह पूरे देश की सभी प्रदेश सरकारों को अपने-अपने राज्य में आदेश जारी करना चाहिए। इस तरह से देश के सभी राज्यों में अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों की भावनाओं का सम्मान होगा। उन्होंने छत्तीसगढ़ प्रदेश में भी राष्ट्रीय अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग की सिफारिश के आधार पर तत्काल प्रभाव से सभी सरकारी पब्लिकेशन और सरकार की प्रचार-प्रसार सामग्री में दलित, हरिजन शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगाने के आदेश जारी करने की मांग की है।

Back to top button