जोगी की पार्टी को चुनाव आयोग से मिली क्षेत्रीय दल के रूप में मान्यता

रायपुर।

विधानसभा चुनाव 2018 के प्रदर्शन के आधार पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) को भारत निर्वाचन आयोग से छत्तीसगढ़ की क्षेत्रीय पार्टी के रूप में मान्यता मिल गई है। साथ ही पार्टी का चुनाव चिन्ह ‘हल चलाता किसान’ पूरे प्रदेश में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के लिए आरक्षित कर दिया गया है। भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली द्वारा पार्टी सुप्रीमो अजीत जोगी को आज इस आशय का पत्र जारी हुआ है।

इस सन्दर्भ में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के नेता अमित जोगी ने प्रतिक्रिया दी की आज का दिन छत्तीसगढ़ के लिए बहुत ही बड़ा दिन है। जोगी ने बताया कि अखंड मध्यप्रदेश में सन 1936 से चुनाव होते आ रहे हैं। अविभाजित मध्यप्रदेश में पूर्व में स्वर्गीय खुबचंद बघेल (1970-80), स्वर्गीय विद्याचरण शुक्ला (2003-2004) और स्वर्गीय तारचंद साहू (2008-2012) ने क्षेत्रीय दल बनाने की कोशिश करी पर उसमें वे सफल नहीं हो सके।

लेकिन पिछले माह हुए चुनावों में छत्तीसगढ़ की जनता के आशीर्वाद से और पार्टी कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत के परिणामस्वरूप अजीत जोगी जी के नेतृत्व में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) 5 सीटें जीतने में सफल रही, साथ ही हमारा महागठबंधन ने प्रदेश में लगभग 14 फीसद वोट शेयर हासिल किया।

इसी प्रदर्शन की वजह से अविभाजित मध्यप्रदेश के इतिहास में पहली बार 82 वर्षों बाद किसी क्षेत्रीय दल को चुनाव आयोग द्वारा मान्यता दी गयी है। अजीत जोगी ने इस उपलब्धि के लिए छत्तीसगढ़ की जनता का धन्यवाद दिया है और जनता को आश्वस्त किया है कि उनकी पार्टी ‘छत्तीसगढ़ प्रथम’ के सिद्घांत पर चलते हुए जनता के हितों की लड़ाई हमेशा लड़ती रहेगी।

new jindal advt tree advt
Back to top button