जेएसपीएल ने अपने प्लांट में आइसोलेशन के साथ-साथ की क्वारंटीन की व्यवस्था

जेएसपीएल ने कोविड-19 की दूसरी लहर को थामने के लिए कमर कस ली

रायपुर:कोविड-19 की दूसरी लहर को थामने के लिए जिन्दल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) ने रायपुर मशीनरी डिवीजन में सघन आरटी-पीसीआर जांच अभियान चला रखा है और अब तक 350 से अधिक कर्मचारियों की जांच की जा चुकी है। जिन लोगों में कोविड19 के लक्षण पाए जा रहे हैं, उनके क्वारंटीन व आइसोलेशन के साथ-साथ इलाज और ऑक्सीजन की व्यवस्था भी की गई है।

जेएसपीएल के प्रेसिडेंट (कॉरपोरेट अफेयर्स) श्री प्रदीप टंडन ने बताया कि प्लांट सुचारु रूप से चलता रहे, इसके लिए तमाम बंदोबस्त किये गए हैं। मानव संसाधन विभाग के प्रमुख श्री सूर्योदय दुबे और फैक्टरी मेडिकल ऑफिसर डॉ. हिदायतुल्लाह खान के नेतृत्व में चौतरफा प्रयास किये जा रहे हैं।

आरटी-पीसीआर जांच के अलावा बीमार लोगों के इलाज की व्यवस्था की गई है। उनके अलग रहने की व्यवस्था की ही गई है, उनकी नियमित जांच भी की जा रही है। इसके लिए थर्मामीटर, ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर और सैनिटाइजर उपलब्ध कराए गए हैं।

विशेष रूप से ऑक्सीजन की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा पूरे प्लांट एवं टाउनशिप को नियमित रूप से सैनिटाइज किया जा रहा है। जिन लोगों की उम्र 45 वर्ष से अधिक है, उन्हें टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

श्री सूर्योदय दुबे ने बताया कि कर्मचारियों को जागरूक करने के लिए मशीनरी डिवीजन परिसर में अनाउंसमेंट की भी व्यवस्था की गई है ताकि कोई भी लक्षण प्रकट होने पर कर्मचारी स्वेच्छा से जांच कराकर शीघ्र स्वस्थ हो सके। प्लांट और टाउनशिप में नियमित रूप से जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है एवं सभी को योग आदि के लिए प्रेरित किया जा रहा है। आपात स्थिति से निपटने के लिए जेएसपीएल ने एंबुलेंस की भी व्यवस्था की है ताकि हालत बिगड़ने पर मरीज को अस्पताल पहुंचाया जा सके।

उन्होंने कहा कि कोविड19 की रोकथाम के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। चूंकि स्टील आवश्यक सेवाओं में है इसलिए कार्यालय आने वाले कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए थर्मल स्कैनिंग और सैनिटाइजेशन के साथ-साथ मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। सभी को सामाजिक दूरी बनाए रखने की हिदायत भी दी जा रही है और सभा आदि के आयोजन पर रोक लगा दी गई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button