जेएसपीएल ने किया कमाल, समय से 4 महीने पहले पूरा किया रेल ऑर्डर

नई दिल्ली : नवीन जिन्दल के नेतृत्व वाली जिन्दल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) ने मेकिंग इन इंडिया का शानदार प्रदर्शन करते हुए रिकॉर्ड समय में रेल पटरियों की आपूर्ति का काम पूरा कर दिया है। ये पटरियां भारतीय रेलवे को सप्लाई की गई हैं। जेएसपीएल को ग्लोबल टेंडर के माध्यम से जुलाई 2018 में 97,400 टन रेल सप्लाई का ऑर्डर मिला था, जिसे उसने तय समय से 4 महीने पहले पूरा कर दिखाया।

जेएसपीएल ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि 2500 करोड़ रुपये के ग्लोबल टेंडर में उसे 20 प्रतिशत रेल पटरियों की सप्लाई का ऑर्डर मिला था। भारत में किसी भी निजी कंपनी को मिलने वाला यह पहला ऑर्डर था। ग्लोबल टेंडर में विश्व की सात कंपनियों ने आवेदन किया था लेकिन तकनीकी मानकों पर केवल जेएसपीएल की खरा उतरी।

विज्ञप्ति के अनुसार कंपनी ने अपने रायगढ़ प्लांट से 15 अगस्त 2018 को पहली खेप भारतीय रेलवे को भेजकर पूरे उद्योग जगत को चौंका दिया। 22 अप्रैल 2019 को पूरे ऑर्डर की सप्लाई कर जेएसपीएल ने अपनी अद्भुत क्षमता और राष्ट्र निर्माण में अपनी भागीदारी के संकल्प का शानदार प्रदर्शन किया।

जेएसपीएल के संयुक्त प्रबंध निदेशक नौशाद अख्तर अंसारी ने कंपनी की इस उपलब्धि पर कहा कि सरकार की मेक इन इंडिया पहल से कदमताल करते हुए हमने समय से पहले अपना वादा पूरा किया। जेएसपीएल को इस अनूठी सफलता पर गर्व है।

उन्होंने कहा कि हाल में भारतीय रेलवे ने 30 हजार टन अतिरिक्त रेल पटरियों का ऑर्डर जेएसपीएल को दिया है। इसके साथ ही ग्लोबल टेंडर में जेएसपीएल की भागीदारी बढ़कर लगभग 30 प्रतिशत की हो गई है।

अंसारी ने इसका श्रेय जेएसपीएल टीम और सांझेदार भारतीय रेलवे को दिया। उन्होंने कहा कि हमें गर्व है कि भारतीय रेलवे से सांझेदारी कर हमें देश में रेल आधारभूत ढांचा मजबूत करने का अवसर मिला। हमारी कंपनी ने भारतीय आधारभूत ढांचा की आवश्यकताओं को पूरा करने और राष्ट्र निर्माण में हरसंभव योगदान करने का संकल्प ले रखा है।

जेएसपीएल भारत में निजी क्षेत्र की इकलौती रेल निर्माता कंपनी है। मेट्रो, बुलेट ट्रेन के लिए आवश्यक हेड हार्डेंड रेल की भी वह देश में इकलौती निर्माता कंपनी है। कंपनी रेल का उत्पादन अपने रायगढ़ स्थित 36 लाख टन प्रतिवर्ष उत्पादन क्षमता वाले स्टील प्लांट में कर रही है। यहां अत्याधुनिक 10 लाख टन प्रतिवर्ष रेल उत्पादन कारखाना है। कंपनी ने ईरान और बांग्लादेश को भी रेल की आपूर्ति की है। इसके अलावा फ्रेट कॉरिडोर के लिए डीएफसीसी को भी पटरियों की आपूर्ति की गई है।

Back to top button